नौसेना ने रचा इतिहास, INS विक्रमादित्य पर स्वदेशी फाइटर जेट तेजस की लैंडिंग सफल

इस सफल लैंडिंग के बाद रूस, अमेरिका, फ्रांस, ब्रिटेन और चीन के साथ भारत विमान वाहक पोत पर अरेस्ट लैंडिंग कराने वाला दुनिया का छठा देश बन गया है. ये एलसीए नेवी वर्जन का प्रोटोटाईप है.
light combat aircraft tejas successfully landed, नौसेना ने रचा इतिहास, INS विक्रमादित्य पर स्वदेशी फाइटर जेट तेजस की लैंडिंग सफल

भारतीय नौ सेना (Indian Navy) के लिए शनिवार एक इतिहास रचने वाला दिन साबित हुआ है. नेवी के स्वदेशी निर्मित लाइट कॉम्‍बेट एयरक्राफ्ट (LCA) तेजस ने एयरक्राफ्ट कैरियर आईएनएस विक्रमादित्‍य पर सफल लैंडिंग कर ली. नेवी के लिए यह पहला मौका था जब देश में बने फाइटर जेट को सफलतापूर्वक विक्रमादित्‍य पर लैंड कराया गया है.

इस सफल लैंडिंग के बाद रूस, अमेरिका, फ्रांस, ब्रिटेन और चीन के साथ भारत विमान वाहक पोत पर अरेस्ट लैंडिंग कराने वाला दुनिया का छठा देश बन गया है. ये एलसीए नेवी वर्जन का प्रोटोटाईप है. ये एनसीए के नेवी वर्जिन की पहली अरेस्टड लैंडिंग है. इससे पहले आईएनएस हंसा नेवी बेस पर इसका परीक्षण किया गया था.

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शनिवार के सफल परीक्षण के बाद डीआरडो और भारतीय नौसेना को बधाई दी. उन्होंने ट्वीट किया,’ डीआरडीओ द्वारा विकसित एलसीए तेजस की आइएनएस विक्रमादित्य पर पहली लैंडिंग के बारे में जानकर बेहद खुशी हुई. यह सफल लैंडिंग भारतीय लड़ाकू विमान विकास कार्यक्रम के इतिहास में एक शानदार घटना है.


डिफेंस रिसर्च एंड डेवलपमेंट ऑर्गनाइजेशन (DRDO) की तरफ से डेवलप एलसीए को एक अरेस्‍ट वॉयर की मदद से सफलता पूर्वक लैंड कराया गया. एरोनॉटिकल डेवलपमेंट एजेंसी (एडीए) नेवी के साथ मिलकर फाइटर जेट को डेवलप करने के काम में लगी हुई है. इसके बाद अब दो इंजन वाले एलसीए के विकास के लिए एक महत्वपूर्ण कदम माना जा रहा है.

डीआरडीओ की तरफ से बताया गया है कि टेस्‍ट सेंटर में सारे ट्रायल्‍स पूरे करने के बाद एयरक्राफ्ट ने सुबह 10 बजकर 02 मिनट पर सफलतापूर्वक डेक पर लैंडिंग की. कमोडोर मओलांकर ने पहली लैंडिग को अंजाम दिया. बीते साल सितंबर में विमान ने गोवा में शोर बेस्ड टेस्ट फैसिलिटी पर अरेस्टेड लैंडिंग की.

light combat aircraft tejas successfully landed, नौसेना ने रचा इतिहास, INS विक्रमादित्य पर स्वदेशी फाइटर जेट तेजस की लैंडिंग सफल

दिसंबर 2016 में नौसेना ने घोषणा की थी कि वह अधिक वजन के लड़ाकू जेट को शामिल नहीं करेगा. क्योंकि इसके संचालन में काफी दिक्कत सामने आती थी. इसके बाद नेवी के लिए हल्के लड़ाकू विमान की जरूरत बढ़ गई थी.

ये भी पढ़ें –

क्वीलिन हादसे से यूक्रेन के यात्री विमान पर अटैक तक, पढ़ें- कब और कहां हो चुका है ऐसा बड़ा हमला

होम मिनिस्टर अमित शाह बनकर एमपी के गवर्नर लालजी टंडन को दिया आदेश, दो गिरफ्तार

Related Posts