हिंसा के खिलाफ सड़कों पर उतरे JNU छात्र, MHRD सचिव से मिलेगा प्रतिनिधिमंडल

5 जनवरी को कुछ नकाबपोश लोगों ने JNU में घुस कर छात्रों और शिक्षकों पर हमला कर दिया था. इस हमले में करीब 30 लोगो घायल हो गए थे.
jnu student march against violence, हिंसा के खिलाफ सड़कों पर उतरे JNU छात्र, MHRD सचिव से मिलेगा प्रतिनिधिमंडल

जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी में 5 जनवरी को हुई हिंसा के खिलाफ JNU छात्रसंघ और शिक्षक हिंसा के विरोध में मार्च निकाल रहे हैं. मार्च को देखते हुए JNU के गेट पर काफी संख्या में सुरक्षा बल मौजूद है.  यह पैदल मार्च JNU से मंडी हाउस तक निकाला जाना था. छात्र पैदल मार्च करने पर अड़े हुए थे लेकिन पुलिस ने उन्हें बसों से प्रदर्शन के लिए मंडी हाउस जाने को कहा. दिल्ली पुलिस का कहना है कि पैदल मार्च से ट्रैफिक बाधित हो सकता है.

LIVE

  • 5 छात्रों का प्रतिनिधिमंडल MHRD जाएगा. सेकेट्ररी से मिलेगा छात्रों का प्रतिनिधिमंडल.ज्वाइंट सेकेट्ररी से भी मुलाकात हो सकती है.
  • शास्त्री भवन के गेट नंबर दो पर पहुंचा मार्च. पुलिस ने यहां रास्ता बंद किया है. इससे आगे जाने की अुनमति नहीं है. भीड़ को देखते हुए पुलिस ने वाटर कैनन से लेकर सभी इंतजाम किए हैं. राजेन्द्र प्रसाद रोड पर भारी पुलिस बल तैनात किया है.
  • JNU हिंसा पर कांग्रेस नेता  जयराम रमेश ने मोदी सरकार पर लगाए आरोप. रमेश ने कहा, “JNU हिंसा के पीछे गृहमंत्री और HRD मंत्रालय है.”
  • लेफ्ट के नेता सीताराम येचुरी, डी. राजा, वृंदा करात, कांग्रेस नेता मुकुल वासनिक और शरद यादव के नेतृत्व में भीड़ HRD मंत्रालय की तरफ बढ़ रही है.
  • फिरोजशाह रोड पर छात्रों की भीड़ बिना अनुमति के आगे बढ़ रही है.
  • हिंसा के खिलाफ मार्च में शामिल होने के लिए दिल्ली यूनिवर्सिटी (DU) और जामिया के छात्र भी मंडी हाउस पहुंच चुके हैं.
  • JNU के तमाम छात्र बसों में बैठकर मंडी हाउस के लिए निकल रहे हैं, जहां प्रोटेस्ट मार्च होगा. दिल्ली पुलिस की गाड़ियां भी छात्रों की बसों के साथ मौजूद रहेंगी.
  • मंडी हाउस पर कई बड़े वांम पंथी और विपक्षी नेता मार्च के समर्थन के लिए पहुंच चुके है. इमसें सीताराम येचुरी और शरद यादव भी शामिल हैं.
  • रविवार को जेएनयू में हुई हिंसा के बाद से लेफ्ट से जुड़े छात्र संगठनों ने जेएनयू वीसी एम जगदीशन कुमार को पद से हटाने की मांग की है.
  • JNU  हिंसा के खिलाफ मार्च निकालने के लिए छात्र और शिक्षक कैंपस में जुटे हैं. वहीं दूसरी तरफ मेन गेट पर पुलिस ने कड़ी सुरक्षा लगाई हुई है.

  • JNU कैंपस में 5 दिसंबर को हुई हिंसा के खिलाफ छात्रों का प्रदर्शन जारी है.

बता दें कि 5 जनवरी को कुछ नकाबपोश लोगों ने JNU में घुस कर छात्रों और शिक्षकों पर हमला कर दिया था. इस हमले में करीब 30 लोगो घायल हो गए थे. हिंसा में JNUSU की अध्यक्ष आइशी घोष को भी काफी चोट आईं थी.

जानकारी के मुताबिक छात्र JNU से मंडी हाउस पहुंच कर वहां से जनतर मंतर और फिर मानव संसाधन एवं विकास मंत्रालय की तरफ कूच करेंगे.

ये भी पढ़ें: जेएनयू हिंसा के खिलाफ प्रदर्शन : मुंबई के बाद मैसूर में दिखा कश्मीर की आजादी का पोस्टर

 

Related Posts