CAA के समर्थन में BJP का कैंपेन, डोर-टू-डोर जा रहे हैं अमित शाह समेत कई मंत्री

कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद भी इस कैंपेन का हिस्सा हैं. उन्होंने कहा कि आज हम सब सबको सच्चाई बताने निकले हैं. नागरिकता कानून किसी भी हिंदुस्तानी पर लागू नही होता.
LIVE updates of BJP started door-to-door campaign in support of CAA, CAA के समर्थन में BJP का कैंपेन, डोर-टू-डोर जा रहे हैं अमित शाह समेत कई मंत्री

नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में देशभर में प्रदर्शन हो रहे हैं, ऐसे में इस प्रदर्शनों के जवाब और लोगों को इस कानून की बारीकियां समझाने के लिए बीजेपी ने डोर-टू-डोर कैंपेन शुरू किया है. इसके तहत बीजेपी अध्यक्ष और गृह मंत्री अमित शाह समेत कई केंद्रीय मंत्री लोगों के घरों तक जा-जाकर लोगों को कानून के बारे में बता रहे हैं.

गृह मंत्री अमित शाह ने कैंपेन की शुरुआत दिल्ली के लाजपत नगर से की. यहां वह लोगों के घर गए और उन्होंने लोगों को नागरिकता कानून के बारे में विस्तार से समझाया. गाजियाबाद के वैशाली के रहने वाले मोहम्मद न‌ईम के घर पर बीजेपी के वरिष्ठ नेता जेपी नड्डा और सांसद जनरल वीके सिंह पहुंचे और उन्होंने CAA पर बात की.

नागरिकता कानून पर केंद्रीय मंत्री जीतेंद्र सिंह ने कहा कि इस मुद्दे पर काफी कुछ कहा जा चुका है, दूसरा पहलू भी लोगों के सामने आना चाहिए. जो लोग नागरिकता कानून का विरोध कर रहे हैं, या तो उन्हें इसके बारे में पूरी जानकारी नहीं है या तो वह किन्ही अन्य कारणों से ऐसा कर रहे हैं.

किसी हिंदुस्तानी पर लागू नहीं होगा CAA: रविशंकर प्रसाद

कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद भी इस कैंपेन का हिस्सा हैं. उन्होंने कहा कि आज हम सब सबको सच्चाई बताने निकले हैं. नागरिकता कानून किसी भी हिंदुस्तानी पर लागू नही होता. 1947 में महात्मा गांधी ने भी कहा था कि अगर पाकिस्तान में लोगो का सम्मान नही मिलेगा तो हमे देना चाहिए. इसके पहले भी युगांडा और श्रीलंका में भी धर्म के आधार पर भारत आए लोगो को नागरिकता दी गई थी.

उन्होंने कहा कि अफगानिस्तान पाकिस्तान और बांग्लादेश तीनो इस्लामिक देश हैं. यहां धर्म के आधार पर लोगों से भेदभाव होता है. अदनाद सामी समेत 600 लोगो को नागरीकित दी गई है. योजनाबद्ध तरीके से लोगों को भड़काया गया. इसी लिए कांग्रेस शासित प्रदेशों में हिंसा नही हुई.

CAA के समर्थन में बीजेपी ने निकाली रैली

बीजेपी ने नागरिकता कानून के समर्थन में रैली निकाली. इस रैली में बीजेपी के कई दिग्गज नेता शामिल हुए. रैली में बीजेपी सांसद और संघ विचारक राकेश सिन्हा भी शामिल हुए. इस दौरान सिन्हा ने कहा कि कानून का विरोध करने वाले अप्रत्यक्ष रूप से तालिबानियों का समर्थन कर रहे हैं. नागरिकता संशोधन कानून सबसे बड़ा सेक्युलर कानून है. 1947 में जो गलती हुई उस गलती को नरेंद्र मोदी ने ठीक करने का काम किया है.

बीजेपी सांसद राकेश सिन्हा ने कहा कि जो लोग इस कानून का विरोध कर रहे हैं, वह देश में हिंदू-मुस्लिम ध्रुवीकरण कराना चाहते हैं. उन्होंने कांग्रेस पार्टी द्वारा भोपाल में सावरकर पर विवादित किताबें बांटने को लेकर भी हमला बोला. उन्होंने कहा कि क्या मैं इंदिरा जी नेहरु जी के चरित्र की बातों को सामने रखूं. यह लोग वैचारिक लड़ाई को चरित्र हनन की लड़ाई में परिवर्तित करना चाहते हैं.

ये भी पढ़ें: नागरिकता कानून समझाने सड़कों पर उतरे अमित शाह, दिल्ली के लाजपत नगर से की शुरुआत

Related Posts