Coronavirus के खिलाफ लॉकडाउन, सरकार ने किसानों को दी बड़ी राहत

कोरोना वायरस (Coronavirus) की वजह से देश में घोषित लॉकडाउन (Lockdown) के बीच सरकार ने किसानों की दिक्कत दूर करने के लिए बड़ा कदम उठाया है. भारत के कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा है कि खेती से जुड़े कामों को लॉकडाउन में छूट दी गई है.

कोरोना वायरस (Coronavirus) की वजह से देश में घोषित लॉकडाउन (Lockdown) के बीच सरकार ने किसानों की दिक्कत दूर करने के लिए बड़ा कदम उठाया है. भारत के कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा है कि खेती से जुड़े कामों को लॉकडाउन में छूट दी गई है. तोमर ने कहा कि ऐसा इसलिए किया गया है ताकि रबी फसलों की कटाई हो सके और देश में खाद्य सुरक्षा बनी रहे. लॉकडाउन में किसानों को छूट मिलने के बाद तोमर ने प्रधानमंत्री और गृह मंत्री के प्रति आभार जताया है.

तोमर ने कहा है कि कृषि गतिविधियों को इसलिए छूट दी गई है ताकि लॉकडाउन के बाद लोगों तक पर्याप्त फूड सप्लाई होता रहे. साथ ही आमलोगों और किसानों को किसी प्रकार की दिक्कत न हो. उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने संबंधित मंत्रालयों और राज्य सरकारों को निर्देश दिया है कि वे किसानों को छूट का लाभ दें.

देखिए NewsTop9 टीवी 9 भारतवर्ष पर रोज सुबह शाम 7 बजे

बता दें कि लॉकडाउन की वजह से किसान खेतों में खड़ी गन्ने की फसल की कटाई और उसे मिल तक पहुंचाने की समस्या से जूझ रहे थे. बाहर रहने वाले मजदूर भी लॉकडाउन के कारण घर नहीं पहुंच पाए थे. ऐसे हालात में किसानों के सामने आर्थिक संकट पैदा होने वाला था.

कृषि मामलों के जानकार आमोकांत ने कहा है कि ज्यादातर मार्च के अंतिम हफ्ते से ही गेंहू की कटाई का काम शुरू होने लगता है. लेकिन इस बार कोरोना वायरस फैलने के कारण मजदूर नहीं मिलने से किसानों को परेशानी हो रही है. जो मशीन बाहर से कटाई के लिए आनी हैं उन्हें भी रोका जा रहा है. अगर सप्ताह भर में फसल नहीं काटी गई तो समस्याएं हो सकती हैं.

देखिए #अड़ी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर शाम 6 बजे

भारतीय किसान यूनियन के प्रदेश उपाध्यक्ष हरनाम वर्मा ने कहा कि पशु पालकों के पास जानवरों का राशन नहीं है. आलू खुदाई करने वाले किसानों को पुलिस परेशान कर रही है. मसूर और सरसों की कटाई का समय भी है. किसानों को सैनिटाइज और सुरक्षित करते हुए उन्हें अपने काम की छूट दी जाए.

योजना आयोग के पूर्व सदस्य और कृषि के जानकार प्रो. सुधीर पांवार ने बताया कि इस बार किसानों की ओला बारिश की मार से 20 से 30 प्रतिशत फसल बर्बाद हो गई है. मुआवाजा की प्रक्रिया चल रही थी, तभी लॉकडाउन हो गया. मार्च के आखिरी समय में यह गन्ना और आलू का समय है.

देखिए फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

उधर सरकार ने बीज, खाद, व कीटानाशक दवाओं की दुकानों के खोलने के निर्देश भी दिए हैं. मुख्यमंत्री ने पुलिस अधीक्षकों को जारी निर्देश में कहा है कि कृषि कार्य में लगे वाहन और खाद-बीज आदि के अवागमन को ना रोका जाए.

Related Posts