लोकसभा में आप सांसद भगवंत मान के नियम तोड़ने पर बोले स्पीकर, ‘मैं पढ़ा-लिखा सभापति हूं’, देखें VIDEO

इससे पहले भी कई बार स्पीकर ओम बिड़ला को सदन चलाने के लिए सख्ती बरतते देखा गया है. पिछले दिनों उन्होंने मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल को नसीहत देते हुए कहा था कि वह किसी भी सदस्य को बोलने की आज्ञा न दें, सदन में यह काम स्पीकर का है.

नई दिल्ली: लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला सदन के अंदर काफी सख्त मिजाज दिखाई पड़ते है. ओम बिड़ला ने आप सांसद भगवंत मान को नियमों पाठ पढ़ाते हुए संसद के कायदे-कानून भी याद दिला दिया.

गुरूवार को संसद में लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला आम आदमी पार्टी के सांसद भगवंत मान को नियमों का पाठ पढ़ाते हुए शांत कर दिया. मान किसी मुद्दे पर बोलने के लिए खड़े हुए थे, तभी लोकसभा स्पीकर ने उनको कानून की जानकारी देते हुए बैठा दिया.

सदन में गुरुवार को शून्य काल के दौरान विभिन्न सांसद अलग-अलग मुद्दों को उठा रहे थे. तभी स्पीकर ने AAP के सांसद भगवंत मान को बोलने की इजाजत दी. इस पर मान ने विदेशों में बसे भारतीय दूतावास का मुद्दा सदन में उठाया, वह अपनी बात पूरी कर पाते, इससे पहले स्पीकर ने उन्हें टोकते हुए कहा कि आपने शून्य काल में जिस विषय का नोटिस दिया है उसी विषय को उठाएं. अगर विषय बदलना भी है तो मुझसे इजाजत लें. स्पीकर ओम बिड़ला ने आगे कहा कि आपने पंजाब में टीचरों की सैलरी का विषय दिया है, मैं पढ़ा-लिखा सभापति हूं. बिड़ला के यह कहते ही सदन में जोर से ठहाके गूंजने लगे.

इसके बाद स्पीकर ने भगवंत मान को विषय बदलने की इजाजत देते हुए कहा कि अगर किसी को विषय बदलना हो तो वह मुझसे परमिशन ले, मैं इसकी परमिशन दूंगा.
लोकसभा को सुचारू ढंग से चलाने के लिए ओम बिड़ला ने आज सदन में सदस्यों से आरोप लगाने से बचने की हिदायत दी. उन्होंने कहा कि बगैर तथ्य और प्रमाण के किसी पर भी आरोप-प्रत्यारोप न करें. उन्होंने कहा कि इस सदन के अंदर जिस तरह की हमारी गरिमा है उसका पालन करें.

इससे पहले भी कई बार स्पीकर ओम बिड़ला को सदन चलाने के लिए सख्ती बरतते देखा गया है. पिछले दिनों उन्होंने मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल को नसीहत देते हुए कहा था कि वह किसी भी सदस्य को बोलने की आज्ञा न दें, सदन में यह काम स्पीकर का है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *