इमरान खान की पार्टी का पूर्व विधायक जान बचाकर पहुंचा भारत, मांगी शरण

बलदेव (43) पिछले महीने खन्ना (लुधियाना) पहुंचे. इसके कुछ महीने पहले उन्होंने अपने परिवार को पहले ही यहां भेज दिया था. बलदेव अब वापस नहीं लौटना चाहते.

नई दिल्ली: पाकिस्तान में जब एक नेता की ऐसी हालत हो सकती है तो फिर सोच लीजिए वहां की अल्प संख्यक आवाम का क्या होता होगा. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआइ) के पूर्व विधायक बलदेव कुमार को अपने परिवार समेत जान बचाकर भारत में आना पड़ा. उन्होंने भारत में राजनीतिक शरण की मांग की है. बलदेव खैबर पख्तून ख्वा (केपीके) विधानसभा में बारीकोट सीट से विधायक रहे हैं.

बलदेव (43) पिछले महीने खन्ना (लुधियाना) पहुंचे. इसके कुछ महीने पहले उन्होंने अपने परिवार को पहले ही यहां भेज दिया था. बलदेव अब वापस नहीं लौटना चाहत. वह भारत में शरण के लिए जल्द ही आवेदन करेंगे. सहजधारी सिख बलदेव का कहना है कि अल्पसंख्यकों पर पाकिस्तान में अत्याचार हो रहे हैं.

बलदेव का कहना है कि हिंदू और सिख नेताओं की हत्याएं की जा रही हैं।.साल 2016 में उनके विधानसभा क्षेत्र के सिटिंग विधायक की हत्या कर दी गई थी. उनकी हत्या के लिए उन पर झूठे आरोप लगाए गए और उन्हें दो साल जेल में रखा गया. वह इस मामले में 2018 में बरी हुए.