वोट डालते समय खींची सेल्फी, पुलिस ने किया गिरफ्तार, आप भी न करें ऐसी गलती

मत की गोपनीयता भंग करने वाले को लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम 1951 की धारा 128 के तहत जुर्माने सहित तीन माह तक की सजा हो सकती है.

लुधियाना: पंजाब के लुधियाना में वोट डालते समय सेल्फी खींचना एक युवक को भारी पड़ गया. युवक ने फोटो खींचकर सोशल मीडिया पर डाली जिसके बाद पुलिस ने किया गिरफ्तार कर लिया.

गिरफ्तार किए गए शख्स का नाम शहनाद आलम है. जो लुधियाना में वोट डालने गया था. पंजाब की लुधियाना लोकसभा सीट पर सातवें और आखिरी चरण में आज 19 मई को वोट डाले जा रहे हैं.

दरअसल निर्वाचन आयोग ने मतदाताओं में उत्साह के लिए मतदान केंद्र के बाहर सेल्फी पॉइंट बनाए हैं. मतदाता वोट डालने के बाद सेल्फी खींचकर सोशल मीडिया पर डालते हैं जिससे अन्य मतदाता भी प्रभावित होते हैं. और जागरुकता बढ़ती है.

लेकिन गिरफ्तार हुए युवक ने गलती यह कर दी कि उसने मतदान केंद्र के अंदर वोट डालते हुए सेल्फी ले ली. जिसके बाद युवक ने सोशल मीडिया पर फोटो डाल दी. और पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया.

मत की गोपनीयता भंग करना अपराध-

भारत निर्वाचन आयोग द्वारा जारी निर्देश के मुताबिक आयोग द्वारा अधिकृत व्यक्तियों को छोड़कर किसी भी व्यक्ति द्वारा किसी भी तरह की फोटोग्राफी या वीडियो ग्राफी पूर्णतः प्रतिबंधित है. ऐसा करना दंडनीय अपराध है. मतदान केंद्र में मोबाइल फोन ले जाना भी पूर्णतः प्रतिबंधित है. मत की गोपनीयता भंग करने वाले को लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम 1951 की धारा 128 के तहत जुर्माने सहित तीन माह तक की सजा हो सकती है.

ये भी पढ़ें- तेजप्रताप यादव के बाउंसर्स का मीडिया पर हमला, गाड़ी के नीचे आ गया था कैमरामैन का पैर

ये भी पढ़ें- पंजाब में मतदान के दौरान हिंसा में एक की मौत, CM अमरिंदर ने कहा- व्यक्तिगत दुश्मनी का मामला

ये भी पढ़ें- सिद्धू को बचपन से जानता हूं, मुझे हटाकर खुद CM बनना चाहते हैं: कैप्टन अमरिंदर सिंह