Lunar Eclipse 2020 India: साल का तीसरा चंद्र ग्रहण आज, जानें समय और ये खास बातें

सूतक काल नहीं लगने की वजह से इस दिन गुरु पूजन किया जा सकता है. यह ग्रहण लगभग दो घंटे 43 मिनट और 24 सेकेंड रहेगा. साथ ही भारत में सूरज के निकल जाने के कारण ग्रहण को भारत में नहीं देखा जा सकेगा. 
chandra grahan 2020, Lunar Eclipse 2020 India: साल का तीसरा चंद्र ग्रहण आज, जानें समय और ये खास बातें

इस साल का तीसरा चंद्र ग्रहण (Lunar eclipse) 5 जुलाई यानी आज सुबह 8 बजकर 38 मिनट पर शुरू होगा जो 11 बजकर 21 मिनट पर खत्म होगा. यह ग्रहण एक उपछाया चंद्र ग्रहण होगा यानी ज्योतिष शास्त्र के अनुसार उपछाया चंद्र ग्रहण का असर न के बराबर होता है इसलिए ज्यादा बुरा प्रभाव नहीं पड़ता लेकिन फिर भी सावधानी रखने की सलाह दी जाती है.

सूतक काल नहीं लगने की वजह से इस दिन गुरु पूजन किया जा सकता है. यह ग्रहण लगभग दो घंटे 43 मिनट और 24 सेकेंड रहेगा. साथ ही भारत में सूरज के निकल जाने के कारण ग्रहण को भारत में नहीं देखा जा सकेगा.

क्या होता है उपछाया चंद्र ग्रहण?

ग्रहण लगने से पहले चंद्रमा पृथ्वी की उपछाया में प्रवेश करता है जिसे चंद्र मालिन्य कहते हैं. इसके बाद चांद पृथ्वी की वास्तविक छाया भूभा (Umbra) में प्रवेश करता है. ऐसा होता है तो वास्तविक ग्रहण होता है, पर कई बार चंद्रमा उपछाया में प्रवेश करके उपछाया शंकु से ही बाहर निकल आता है और भूभा में प्रवेश नहीं करता. इसलिए उपछाया के समय चंद्रमा का बिंब केवल धुंधला पड़ता है, काला नहीं होता है. इस धुंधलापन को सामान्य रूप से देखा नहीं जा सकता है, इसलिए चंद्र मालिन्य मात्र होने की वजह से ही इसे उपछाया चंद्र ग्रहण कहते हैं.

कहां- कहां दिखेगा चंद्र ग्रहण

5 जुलाई को चंद्र ग्रहण ऑस्ट्रेलिया, अमेरिका और युरोप के देशों में देखा जा सकेगा. यह चंद्र ग्रहण भारत में नहीं दिखाई देगा जिस कारण से इसका सूतक काल मान्य नहीं होगा. इसमें किसी भी तरह का शुभ कार्य संपन्न किया जा सकता है.

ऐसे देखा जा सकेगा साल का तीसरा चंद्र ग्रहण

उपछाया चंद्र ग्रहण और इस तरह की अन्य खगोलीय घटनाओं को अक्सर Slooh और वेबसाइट वर्चुअल टेलीस्कोप समेत कई लोकप्रिय यूट्यूब चैनल्स पर स्ट्रीम किया जाता है. अगर आप उन क्षेत्रों में से एक में रहते हैं जहां यह चंद्र ग्रहण दिखाई देगा, तो आप बिना किसी विशेष उपकरण के इस देखने में सक्षम होंगे.

देखिए NewsTop9 टीवी 9 भारतवर्ष पर रोज सुबह शाम 7 बजे

Related Posts