अगस्ता वेस्टलैंड मामले में रतुल पुरी की रिमांड बढ़ी

पुरी के हिन्दुस्तान पावर के ओखला दफ्तर का पता ईडी को पहले से पता था, लेकिन ईडी ने पहले सर्च क्यों नहीं की?

नयी दिल्ली: अगस्ता वेस्टलैंड हेलिकॉप्टर सौदा मामले में मनी लांड्रिंग के आरोपों का सामना कर रहे कमलनाथ (Kamalnath) के भांजे रतुल पुरी (Ratul Puri) की 5 दिन की ED रिमांड बढ़ गयी है. 16 रतुल पुरी को अब 16 सितंबर को पेश करना होगा. ED ने 8 दिन की रिमांड मांगी थी.

सुनवाई के दौरान ED के वकील डीपी सिंह ने कहा कि रतुल पुरी की दोस्त नेयमत बक्शी इस मामले में संदिग्ध हैं. रेड के दौरान कुछ अहम कागजात मिले थे. रतुल पुरी को मामले में एक अहम गवाह केके खोसला से आमना-सामना कराना है, लेकिन खोसला मिल नहीं रहा है.

रतुल पुरी के वकील विजय अग्रवाल ने ईडी की रिमांड बढ़ाने की मांग का विरोध करते हुए कहा कि ईडी फिर से 8 दिन की रिमांड मांग रही है, जो कागज ईडी यह कहकर दिखा रही है कि पुरी के यहां से मिले हैं, हम उन दस्तावेजों को देख भी नहीं सकते.

ईडी की रिमांड मांगने का हम विरोध करते हैं. ईडी ने 20 लोगों को समन किया. इनमें से 10 से पूछताछ कर ली गई है. 6 दिन की रिमांड में क्या ईडी उन 20 लोगों को एग्जामिन नहीं कर पाया? अगर पुरी कुछ बता ही नहीं रहे हैं, जांच में सहयोग ही नहीं कर रहे हैं तो फिर 8 दिन की कस्टडी का क्या मतलब? फिर तो पुरी को जेल ही भेज दिया जाए.

पुरी के हिन्दुस्तान पावर के ओखला दफ्तर का पता ईडी को पहले से पता था, लेकिन ईडी ने पहले सर्च क्यों नहीं की? रिमांड में लेकर ही क्यों? ये कंफर्ट करवाने का सिर्फ बहाना ही बनाते हैं, रिमांड बढ़ाने के.