जानें क्यों, मुख्यमंत्री पद से दूर भाग रहे शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे?

संजय राउत ने कहा है कि आने वाले 2 दिनों में सीएम का नाम भी तय हो जाएगा. बता दें आज मुंबई में NCP-कांग्रेस-शिवसेना की बैठक होगी.

शिवसेना सांसद संजय राउत की मानें तो सीएम पद को लेकर सहमति बन गई है. इतना ही नहीं यह भी स्पष्ट किया है कि अगले पांच सालों तक राज्य में शिवसेना का ही मुख्यमंत्री होगा.

इससे पहले ख़बर आ रही थी कि एनसीपी प्रमुख शरद पवार उद्धव ठाकरे को सीएम बनाना चाहते हैं. जबकि शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे अपनी जगह किसी अन्य वरिष्ठ नेता को सीएम बनाना चाहते हैं.

सवाल उठता है कि अगर उद्धव नहीं तो कौन होंगे सीएम. मीडिया गलियारों में इस बात की चर्चा है कि शिवसेना सांसद संजय राउत अगले मुख्यमंत्री हो सकते हैं. हालांकि इस बात की अधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है.

सूत्रों के मुताबिक उद्धव ठाकरे सीएम नहीं बनना चाहते इसके पीछे कई ख़ास वजह है. जैसे कि-

– वे कभी चुनाव नहीं लड़े.
– उद्धव ठाकरे को स्वास्थ्य संबंधी दिक्कतें रहती हैं.
– अगर वो मुख्यमंत्री बने तो विपक्ष उन पर यह कहकर हमला करने लगेगा कि पहले तो वह आदित्य को मुख्यमंत्री बनाना चाहते थे.
– आखिरी और सबसे बड़ी वजह अगर उद्धव मुख्यमंत्री बनते हैं तो व्यस्त हो जाएंगे. शिवसेना की जो कमान उन्होंने संभाल रखी है वो ढीली पड़ जाएगी.

– शिवसेना की कमान उद्धव ठाकरे ने संभाल रखी है. अगर वो मुख्यमंत्री बने तो पार्टी पर उनकी कमान ढीली पड़ जाएगी.

संजय राउत ने कहा है कि आने वाले 2 दिनों में सीएम का नाम भी तय हो जाएगा. बता दें आज मुंबई में NCP-कांग्रेस-शिवसेना की बैठक होगी. पहले 11 बजे, शिवसेना विधायकों की अलग से बैठक होगी. फिर 12 बजे कांग्रेस-NCP की बैठक होगी. इसमें छोटे सहयोगी दल भी शामिल होंगे.

1 बजे कांग्रेस विधायकों की बैठक होगी जिसमें कांग्रेस विधायक दल का नेता चुना जाएगा. शाम को ही तीनों पार्टियों के विधायकों की बैठक होगी जिसमें सरकार के गठन पर बात होगी.