अजित पवार NCP MLAs को धोखे से ले गए राजभवन, शरद पवार बोले फैसला पार्टी के खिलाफ

राज्यपाल को समर्थन पत्र सौंपे जाने को लेकर खुलासा करते हुए पवार ने कहा कि पार्टी विधायक दल के नेता के चयन के दौरान विधायकों के हस्ताक्षर लिए गए थे, आशंका है कि इस हस्ताक्षर वाली चिट्ठी को ही राजभवन में दिया गया होगा.
uddhav thackeray Sharad pawar over Political Crisis, अजित पवार NCP MLAs को धोखे से ले गए राजभवन, शरद पवार बोले फैसला पार्टी के खिलाफ

एनसीपी (राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी ) प्रमुख शरद पवार ने महाराष्ट्र में सियासी उठापटक से नाराज़गी ज़ाहिर की है.  शरद पवार ने कहा कि मुझे आज सुबह साढ़े 6 बजे शपथ के बारे में जानकारी दी गई. मुझे कुछ लोगों ने सुबह बताया कि हमें यहां लाया गया है, वे शायद राजभवन की बात कर रहे थे.

YB Chavan सेंटर में एनसीपी-शिवसेना की साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस में पवार ने कहा, ‘तीनों दलों (ShivSena, Congress, NCP) ने सरकार बनाने का फैसला लिया था. हमें पूरी जानकारी टीवी से मिली. अजित पवार का फैसला पार्टी के खिलाफ है.’

उन्होंने आगे कहा, ‘एनसीपी का जो भी प्रमाणिक कार्यकर्ता है, वह उनके (अजित पवार) के साथ नहीं जाएगा. हमारे पास नंबर हैं. हमारे पास 156 विधायकों का समर्थन है. अजित पवार का फैसला पार्टी लाइन के खिलाफ, अनुशासन तोड़ने वाला है. एनसीपी का कोई भी कार्यकर्ता एनसीपी-बीजेपी की सरकार के समर्थन में नहीं है.’

शरद पवार ने कहा, ‘सरकार का नेतृत्व शिवसेना के पास हो ऐसा हमारा प्रयास होगा. बहुमत साबित होने तक हम साथ रहेंगे. सदन में वो (फडणवीस और अजित पवार) बहुमत पेश नहीं कर पाएंगे, हम फिर से सरकार बनाने का प्रयास करेंगे.’

राज्यपाल को समर्थन पत्र सौंपे जाने को लेकर खुलासा करते हुए पवार ने कहा कि पार्टी विधायक दल के नेता के चयन के दौरान विधायकों के हस्ताक्षर लिए गए थे, आशंका हो कि इस हस्ताक्षर वाली चिट्ठी को ही राजभवन में दिया गया होगा.

वहीं शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि हमने जनादेश का सम्मान किया, हम जो भी करते हैं खुलेआम करते हैं. राष्ट्रपति शासन हटाने के लिए सुबह-सुबह केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक बुलाई गई थी, ऐसी जानकारी मिली है. संविधान के अनुसार ही काम होना चाहिए.

वहीं शिवसेना को तोड़े जाने को लेकर जब सवाल पूछा गया तो ठाकरे नें कहा, ‘कोशिश करके देखें, महाराष्ट्र सोने वाला नहीं है.’

सवाल उठता है कि क्या एनसीपी प्रमुख अजित पवार के ख़िलाफ़ कोई एक्शन लेंगे. इसपर शरद पवार ने कहा, ‘अजित पवार पर कार्रवाई के बारे में पार्टी की संसदीय बोर्ड की बैठक में निर्णय लिया जाएगा. सरकार हम बनाएंगे, नंबर हमारे पास है.’

बता दें कि एनसीपी प्रमुख शरद पवार अपने साथ कुछ एनसीपी विधायकों को लेकर भी आए हैं. इनमें से एक विधायक आज सुबह 7 बजे राजभवन बुलाए जाने की बात कह रहे हैं.

विधायक संदीप शिवसागर, जो आज राजभवन बुलाए गए थे उन्होंने सुबह की घटना को विस्तार से समझाया.

और पढ़ें- 29 दिनों बाद दस घंटों में ऐसे आई एक बार फिर महाराष्ट्र में फडणवीस सरकार

महाराष्ट्र में जारी सियासी उठापटक से जुड़े सभी अपडेट्स के लिए देखते रहें  TV9 भारतवर्ष लाइव 

Related Posts