“राजनीतिक नहीं, राज्य की केंद्र सरकार से थी मुलाकात,” पीएम मोदी से मिलने के बाद बोलीं ममता

ममता बनर्जी ने बताया कि मुलाकात काफी अच्छी रही और इस दौरान पश्चिम बंगाल का नाम बदलने समेत कई मुद्दों पर चर्चा हुई.

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की. इस दौरान पश्चिम बंगाल का नाम बदलने समेत कई मुद्दों पर चर्चा हुई. पीएम मोदी से मुलाकात के बाद तृणमूल कांग्रेस पार्टी की प्रमुख ने कहा कि उनकी मुलाकात काफी अच्छी रही.

ममता बनर्जी ने मुलाकात के बाद कहा कि उनकी प्रधानमंत्री मोदी से पश्चिम बंगाल का नाम बदलने को लेकर भी चर्चा हुई. उन्होंने बताया कि कोल ब्लॉक के मसले पर भी प्रधानमंत्री मोदी से उनकी बातचीत हुई है. ममता बनर्जी ने प्रधानमंत्री को कोल ब्लॉक योजना के उद्घाटन के लिए आमंत्रित किया है.

उन्होंने कहा, “हमने प्रधानमंत्री से कहा की दुर्गा पूजा के बाद अगर वो एक तारीख तय कर इस कोल ब्लॉक कार्यक्रम में शामिल हों. इस कोल ब्लॉक कार्यक्रम से बहुत लोगों को रोजगार मिलेगा. अगर समय मिला तो हम कल गृह मंत्री से समय मांगेंगे, हालांकि वो झारखण्ड में हैं लेकिन अगर वक्त मिला तो मिलने जाएंगे.”

ममता बनर्जी ने साफ किया कि ये सरकार और सरकार के बीच की मुलाकात थी, न की राजनीतिक. उन्होंने NRC मसले पर कहा कि NRC सिर्फ असम के लिए है न की दूसरे राज्यों के लिए. उन्होंने साफ किया कि बंगाल में NRC का कोई प्रस्ताव नहीं है, बंगाल में ये लागू नहीं होगा.

ममता बनर्जी ने CBI और ED के दुरुपयोग के सवाल पर कहा कि प्रधानमंत्री मोदी से उनकी बात सिर्फ विकास से जुड़ मसलों पर ही हुई है. साथ ही पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ने बताया कि उन्होंने बंगाल के लिए 12 हजार करोड़ रुपए की मांग भी पीएम मोदी से की.

ये भी पढ़ें: त्योहारों से पहले केंद्र सरकार ने दिया तोहफा, रेलवे कर्मचारियों को मिलेगा 78 दिन का बोनस