‘जय श्री राम’ के नारे पर भड़कीं ममता बनर्जी, कहा- कौन है, चमड़ी उधेड़ दूंगी, चीर दूंगी

ममता बनर्जी गुस्से में कार से बाहर से निकलती हैं और कहती हैं कि 'मैं तुम्हारी सारी सेवा बंद कर दूंगी. ये हमारी खाएंगे और उनके लिए गाएंगे.'

कोलकाता: पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी एक बार फिर से ‘जय श्री राम’ के नारों पर भड़क उठीं. ममता का काफिला गुरुवार को उत्तरी 24 परगना जिले के संकटग्रस्त भाटपारा से गुजर रहा था. इसी दौरान कुछ लोगों ने ‘जय श्री राम’ के नारे लगाने शुरू कर दिए. बंगाल सीएम को ये नागवार गुजरा. वो अपना आपा खो बैठीं और नारा लगा रहे लोगों को जमकर खरी-खोटी सुनाई.

घटना का एक वीडियो सामने आया है. वीडियो में देखा जा सकता है कि ममता काफी गुस्से में अपनी कार से बाहर निकलकती हैं. और अपने सुरक्षा अधिकारियों से नारे लगा रहे लोगों के नाम लिखने को कहती हैं. दूसरी तरफ, ‘जय श्री राम’ के नारों की आवाज आ रही है. सूत्रों के हवाले से बताया जा रहा है कि इस मामले में 10 लोगों को हिरासत में लिया गया है. हालांकि पुलिस इनकी हिसारत या गिरफ्तारी की बात स्वीकार नहीं कर रही है.

‘चमड़े उधेड़ दूंगी, चीर दूंगी’
तमतमाई हुई ममता कहती हैं कि ‘मैं तुम्हारी सारी सेवा बंद कर दूंगी. ये हमारी खाएंगे और उनके लिए गाएंगे. जाओ और काम करो. मैं उनके चमड़ी उधेड़ दूंगी, चीर दूंगी. अगर आप चाहते हैं तो नारा दे सकते हैं लेकिन आप मेरे कार पर हमला नहीं कर सकते.’

उन्होंने कहा, “आप अपने बारे में क्या सोचते हैं? आप अन्य राज्यों से आएंगे, यहां रहेंगे और हमारे साथ दुर्व्यवहार करें. मैं इसे बर्दाश्त नहीं करूंगी. तुम्हारी हिम्मत कैसे हुई मुझे अपमानित करने की? आप सभी के नामों और विवरणों को लिख लिया जाएगा.’

‘कौन है, छोडूंगी नहीं, देख लूंगी’
इतना कहने के बाद ममता वापस अपनी कार में बैठने के लिए जाने लगीं. इसी बीच फिर से भीड़ से ‘जय श्री राम’ के नारे की आवाज आई. ममता वापस मुड़ीं और गुस्से में कहा कि ‘सामने आओ, कौन है? छोडूंगी नहीं. देख लूंगी सबको, मैं एक्शन लूंगी. कार्रवाई करूंगी.’

इसके बाद ममता अपनी गाड़ी में बैठीं और उनका काफिला चला पड़ा. उधर कुछ लोग फिर से ममता की गाड़ी के पीछे ‘जय श्री राम’ का नारा लगाते हुए दौड़ पड़े. हालांकि ममता इस बार रूकीं नहीं और नैहाटी के लिए निकल पड़ीं.

‘क्या यही लोकतंत्र है?’
ममता ने नैहाटी में धरने में बैठे लोगों को संबोधित किया. इस दौरान उन्होंने कहा कि भाजपा के कुछ कार्यकर्ता उनकी कार के सामने आये और उन्हें अपशब्द कहने लगे. उन्होंने पूछा, ‘क्या यही लोकतंत्र है?’

गौरतलब है कि इस महीने की शुरुआत में पश्चिमी मिदनापुर जिले के चंद्रकना कस्बे के निकट एक ऐसी ही घटना हुई थी. लोकसभा चुनावों के दौरान ममता का काफिला क्षेत्र से गुजर रहा था, इसी दौरान कुछ लोग ‘जय श्री राम’ के नारे लगाने लगे. ममता तब भी भड़की उठी थीं. उन्होंने कहा था कि मुझे गाली देने की हिम्मत कैसे हुई. पुलिस ने इस मामले में तीन लोगों को गिरफ्तार किया था.

ये भी पढ़ें-

‘अगले 10-15 साल क‍पालभाति करो’, विपक्ष को ऐसी सलाह क्‍यों दे रहे हैं रामदेव

ICC वर्ल्ड कप: पाकिस्तान-विंडीज की मजबूत बल्लेबाजी के बीच घमासान आज, देखें संभावित प्लेयिंग-XI

पिछली मोदी सरकार के वो कद्दावर चेहरे जिन्हें इस बार नहीं मिली जगह

Related Posts