ममता बनर्जी ने नीतीश कुमार को दिया गठबंधन का ऑफर, Thanks भी बोला

ममता बनर्जी नीतीश कुमार को अपने पाले में लाने का कोई मौका नहीं छोड़ रही हैं. ममता बनर्जी ने हाल ही में जेडीयू नेता और चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर से मुलाकात की.

कोलकाता: पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने नीतीश कुमार को गठबंधन का ऑफर दिया है. ममता ने नीतीश कुमार के उस बयान की भी तारीफ की है, जिसमें उन्‍होंने स्‍पष्‍ट किया था कि जेडीयू केवल बिहार में एनडीए के साथ मिलकर चुनाव लड़ेगी. जेडीयू का बिहार के बाहर एनडीए के साथ कोई गठबंधन नहीं है.
बंगाल को लेकर बीजेपी और टीएमसी आमने-सामने हैं. 2019 लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने जिस तरह से बंगाल में जीत दर्ज की, उसके बाद से ममता बनर्जी लगातार नुकसान की भरपाई में जुटी हैं. दूसरी ओर पीएम नरेंद्र मोदी और अमित शाह भी बंगाल को लेकर बेहद सक्रिय हैं. इसी क्रम में बंगाल के राज्‍यपाल की पीएम मोदी से मीटिंग का कार्यक्रम बना और इसका मुद्दा तय किया गया हिंसा. रविवार को ही केंद्र सरकार ने बंगाल को एडवाइजरी जारी कर हिंसा पर चिंता जताई.
इधर, पीएम मोदी, अमित शाह और राज्‍यपाल के बीच बातचीत की खबरें सुर्खियों में हैं और उधर, ममता बनर्जी नीतीश कुमार को अपने पाले में लाने का कोई मौका नहीं छोड़ रही हैं.
ममता बनर्जी ने हाल ही में जेडीयू नेता और चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर से मुलाकात की. खबरें आईं कि वह अगले बंगाल विधानसभा चुनाव में टीएमसी के लिए रणनीति तैयार करेंगे. प्रशांत किशोर की ममता बनर्जी से मीटिंग के बाद खुद नीतीश कुमार को आकर सफाई देनी पड़ी. नीतीश ने कहा कि प्रशांत की कंपनी क्‍या कर रही है, इसका जेडीयू से कोई लेना-देना नहीं है.
ममता बनर्जी ने नीतीश कुमार को गठबंधन का ऑफर देने से पहले एक और अपील की थी, जिसे उन्‍होंने अस्‍वीकार कर दिया. ममता बनर्जी ने नीति आयोग की बैठक का  बहिष्कार करने के लिए कई मुख्यमंत्रियों को पत्र लिखा, ये पत्र नीतीश कुमार को भी भेजा गया. इस पत्र के बारे में नीतीश कुमार ने कहा कि बहिष्कार और उसके कारणों के बारे में जो भी ममता बनर्जी ने लिखा है वह उनका अपना विचार है. नीतीश ने कहा कि नीति आयोग की बैठक में कम से कम अपने राज्य की तरफ से बात रखने का मौका मिलता है.