ट्रैफिक कॉन्स्टेबल को 2 किलोमीटर तक बोनट पर बैठा युवक भगाता रहा कार, VIDEO वायरल

पीड़ित ट्रैफिक कॉन्स्टेबल से हकीकत मालूम करके मामले की जांच शुरू कर दी गई है. मामला देश की राजधानी दिल्ली का है.

कागजातों की जांच से बचने के लिए भागा एक युवक बोनट पर ट्रैफिक पुलिसकर्मी को बैठाकर अंधाधुंध स्पीड से कार को दो किलोमीटर तक दौड़ाता रहा. वहीं आरोपी का बेखौफ दोस्त इस रूह कंपा देने वाले तमाशे का बेधड़क होकर वीडियो बनाता रहा. रविवार को घटना का वीडियो वायरल हुआ तो दिल्ली पुलिस में बवाल मच गया.

फिलहाल पीड़ित ट्रैफिक कॉन्स्टेबल से हकीकत मालूम करके मामले की जांच शुरू कर दी गई है. मामला हिंदुस्तान के किसी दूर दराज छोटे शहर का नहीं बल्कि देश की राजधानी दिल्ली का है.

ये घटना बीते साल नवंबर की है. मगर वीडियो रविवार को सोशल मीडिया पर वायरल हुआ. वीडियो वायरल होते ही सबसे पहले दिल्ली ट्रैफिक पुलिस में हड़कंप मचा. अभी तक जांच में जो कुछ तथ्य सामने आये उनके मुताबिक, वीडियो दिल्ली के नांगलोई चौक इलाके का है. सड़क पर अंधाधुंध इधर-उधर दौड़ रही कार के बोनट पर जान बचाने को चीख-चिल्ला रहे सिपाही का नाम सुनील पता चला है.

ये भी पढ़ें- भारतीय नौसैनिकों को हनीट्रैप में फंसा रही हैं ISI की हसीनाएं, NIA ने किया भंडाफोड़

दिल्ली पुलिस के ही सूत्रों के मुताबिक, वीडियो में दिखाई दे रही कार को ट्रैफिक पुलिस वालों ने नांगलोई चौक पर जांच के लिए रोकना चाहा था. इसी कोशिश के दौरान पुलिस से बचने और पुलिस वालों को सबक सिखाने की नीयत से आरोपी कार ड्राइवर ने सिपाही सुनील को कार की स्पीड कम करके पहले तो बोनट पर चढ़ने का मौका दिया, उसके बाद कार की स्पीड बेतहाशा बढ़ा दी और मौके से फरार हो गया. इस पूरे तमाशे का वीडियो कार ड्राइवर के दोस्त ने खुद ही बनाया.

अब वही वीडियो सोशल मीडिया पर दो महीने बाद रविवार को वायरल हो गया. सूत्र बताते हैं कि, वीडियो अगर बाहर न आया होता तो दिल्ली ट्रैफिक पुलिस इस मामले पर शायद कोई संज्ञान नहीं लेती. पुलिस अफसरों की दलील होती कि, चलो कोई नुकसान तो नहीं हुआ. सिपाही सुरक्षित बच गया. यही क्या कम है. हालांकि, अब वीडियो का जिन्न बाहर आने पर इस पूरे मामले की लीपापोती करने की जुर्रत दिल्ली ट्रैफिक पुलिस महकमा नहीं कर पा रहा है और मामले की जांच की जा रही है.