दिल्ली में दिनदहाड़े 40 लाख की लूट, फिल्मी लगती है पूरी कहानी

जब दोनों हनुमान मंदिर के आगे निकले तो आरोपित व्यक्ति ने अजित का फोन छीनकर बाहर फेंक दिया

देश की राजधानी नई दिल्ली में इन दिनों कई अपराधिक घटनाएं सामने आ रही है. रविवार को एक ऐसा वाक्या सामने आया जो लोगों के दिलों में दहशत पैदा करता है. एक 30 साल के व्यक्ति से दिनदहाड़े 40 लाख़ रुपये लूट लिए गए. इतना ही नहीं लूटने वाले शख़्स ने ख़ाकी वर्दी पहन रखी थी.

आइए अब पूरा मामला विस्तार से समझते हैं. ठाकोर अजीत नाम का यह पीड़ित नया बाज़ार के एक दुकान में काम करता है. पुलिस के मुताबिक उसने घटना की शिकायत दर्ज़ करते हुए कहा है कि 25 सितंबर को उसके बॉस ने उसे और उसके सहकर्मी राकेश को एक व्यक्ति से मिलने को भेजा था.

दोनों को बाराखंबा रोड पहुंचकर हेली रोड स्थित एक इमारत में किसी व्यक्ति से मिलकर कुछ सामान लेने को कहा गया था.

वो दोनों जब नियत समय पर वहां पहुंचे तो उसे एक शख़्स ने तीन बैग दिए. अजित ने एक बैग खोलकर देखा. उसमें 500 रुपये नोट के 80 बंडल थे. कुल मिलाकर एक बैग में लगभग 40 लाख़ रुपये थे.

शख़्स ने अजीत से कहा कि नोट गिनने में समय खर्च नहीं करे और जल्द से जल्द रवाना हो जाए. जिसके बाद अजित अपने सहकर्मी राकेश के साथ ऑटो में सवार होकर फतेहपुरी के लिए रवाना हो गया.

जैसे ही दोनों चत्ता रेड लाइट पर पहुंचे उन्होंने देखा कि एक गाड़ी उनके बगल में आकर खड़ी हुई. एक दाढ़ी वाला शख़्स जिसने ख़ाकी वर्दी पहन रखी थी उसे इशारे से रुकने को कह रहा था. उसने पूछा बैग में क्या है?

पीड़ित ने ड्राइवर से ऑटो साईड में लगाने को कहा. इस बीच सहकर्मी राकेश एक बैग लेकर मौक़े से फरार हो गया. वहीं आरोपित शख़्स ने बैग चेक किया. उसे बैग में पैसे मिले.

उसने अजीत से जबरन अपनी कार में बैठने को कहा. जब दोनों हनुमान मंदिर के आगे निकले तो आरोपित व्यक्ति ने अजित का फोन छीनकर बाहर फेंक दिया और कुछ दूर आगे ले जाकर गाड़ी से बाहर निकाल दिया.

बाद में आरोपित शख़्स अपनी कार की स्पीड बढ़ाते हुए आईएसबीटी कश्मीरी गेट की तरफ फ़रार हो गया. पुलिस ने सारी कहानी दर्ज़ कर ली है और अब उस शख़्स को ढूंढ़ने की कोशिश में जुट गई है.