अरविंद केजरीवाल को थप्‍पड़ मारने वाला युवक बोला- किसी ने कहा नहीं था, मुझे नहीं पता मैंने क्‍यों मारा

AAP संयोजक अरविंद केजरीवाल पर लोकसभा चुनाव 2019 के लिए प्रचार के दौरान हमला हुआ था.

नई दिल्‍ली: दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर 4 मई 2019 को हमला करने वाले शख्‍स ने अपना पक्ष रखा है. सुरेश नाम के व्‍यक्ति ने कहा है कि उसे नहीं पता कि उसने केजरीवाल को थप्‍पड़ क्‍यों मारा. उसने कहा कि उसे अपनी इस हरकत पर पछतावा जरूर है. पत्रकारों से बातचीत में सुरेश ने कहा, “मेरे को कुछ समझ नहीं आया कि क्‍या हुआ. आप पूछ रहे हो कि आपने ऐसा क्‍यों किया. अब एक आदमी जिसे खुद को नहीं पता कि ऐसा क्‍यों हुआ. इस बात का वो जेल में बैठके पछतावा करता है.

आम आदमी पार्टी की रैली में जाने के सवाल पर सुरेश ने बताया कि वह कई कार्यक्रमों में जाता रहा है. उसने कहा, “भावना से तो मैं कहीं भी जा सकता हूं, लेकिन किसी के साथ पर्सनल होके नहीं जाता था.” सुरेश ने मीडिया के सामने कहा कि वह दोबारा ऐसी हर‍कत नहीं करेगा. उसने यह भी दावा किया कि वह किसी राजनैतिक पार्टी से नहीं जुड़ा है.

रैली के दौरान हुआ था केजरीवाल पर हमला

4 मई को आम आदमी पार्टी (आप) के संयोजक अरविंद केजरीवाल को सुरेश ने थप्‍पड़ मार दिया था. केजरीवाल उस वक्‍त पश्चिम दिल्ली के मोती नगर इलाके में पार्टी उम्मीदवार बलबीर सिंह जाखड़ के साथ प्रचार कर रहे थे. वह एक रोडशो के लिए जैसे ही एक खुली जीप पर सवार हुए, सुरेश ने जीप के बोनट पर चढ़कर उन्हें थप्पड़ मार दिया था.

पहले कब-कब अरविंद केजरीवाल पर हुआ हमला

नवंबर 2018 में एक युवक अपनी समस्या को लेकर अरविंद केजरीवाल से मिलने गया था और मिलने के दौरान उसने मुख्यमंत्री पर मिर्च पाउडर फेंक दिया था. इस दौरान केजरीवाल का चश्मा भी टूट गया था.

वर्ष 2014 में लोकसभा चुनाव के दौरान एक ऑटो ड्राइवर ने उन्हें थप्पड़ मार दिया था. ड्राइवर उन्हें माला पहनाने आया था और इसी दौरान उसने थप्पड़ रसीद कर दिया.

दिसंबर 2014 में उन पर पत्थर से हमला किया गया, लेकिन वह बाल-बाल बच गए थे. इसी हफ्ते एक रैली में उन पर अंडे फेंके गए थे.

पंजाब के लुधियाना में फरवरी 2016 में उनकी कार पर लोहे की रॉड और अंडों से हमला किया गया था, जिसमें कार के शीशे टूट गए थे.

दिल्ली के छत्रसाल स्टेडियम में ऑड-ईवन फार्मूले के ट्रायल से संबंधित सभा के दौरान एक महिला ने अरविंद केजरीवाल पर स्याही फेंककर इसका विरोध किया था.

दिल्ली सचिवालय में अप्रैल 2016 में एक संवाददाता सम्मेलन के दौरान उनकी ओर जूता उछाल कर विरोध जताया गया था.

ये भी पढ़ें

साउथ दिल्ली के BJP सांसद रमेश बिधूड़ी ने पार की हदें, CM केजरीवाल को कहे अपशब्द

‘समझ नहीं आता कि दिल्ली में मुख्यमंत्री है या धरना मंत्री,’ योगी ने कसा केजरीवाल पर तंज

‘केजरीवाल दुबले-पतले हैं इसलिए थप्पड़ से लड़खड़ा जाते हैं’, सामना में शिवसेना ने लिखा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *