‘कश्मीरी असली गांधीवादी, वहां मिलिट्री रूल चल रहा है’, मणिशंकर अय्यर का बयान

देश के उत्तरी बॉर्डर पर एक फिलीस्तीन बना देने वाले बयान के बाद मणिशंकर अय्यर ने कहा है कि बिना कश्मीर के लोगों से पूछे, वहां एक किस्म का मिलिट्री रूल चलाया जा रहा है.

अक्सर अपने विवादित बयानों को लेकर सुर्खियों में रहने वाले कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मणिशंकर अय्यर ने एक बार फिर जम्मू-कश्मीर से 370 हटाए जाने को लेकर केंद्र की मोदी सरकार को घेरा है.

देश के उत्तरी बॉर्डर पर एक फिलीस्तीन बना देने वाले बयान के बाद मणिशंकर अय्यर ने कहा है कि बिना कश्मीर के लोगों से पूछे, वहां एक किस्म का मिलिट्री रूल चलाया जा रहा है.

मणिशंकर अय्यर ने कहा, “मुझको बहुत अफसोस है. मैं कश्मीरी नही हूं, मैं जम्मू का भी नही हूं, लेकिन जो दुख आज वो महसूस कर रहे होंगे, मै उनके साथ हूं. मुझको सहीं नहीं लगता ये जो तानाशाही के तरिके से इस सरकार ने बदलाव किया है. इस सरकार ने उनके विकल्पों को बंद कर दिया है.

इसके बाद अय्यर ने कहा, “वहां एक किस्म का मिलिट्री रूल चल रहा है. इसको थोप कर बिना लोगों को पूछे. कश्मीरी असली गांधीवादी हैं. जो गांधी जी ने सिविल डिस्ओबिडियंस सिखाया था, वो वहां चल रहा है.

कश्मीर में आतंकी गतिविधि पर बात करते हुए कांग्रेस नेता ने कहा, “हां, वहां आतंकवादी हैं. सरकार का कहना है 250 के करीब हैं, लेकिन बाकी 80 लाख लोगों का क्या? अब ये 80 लाख लोग मोदी के भारत से नफरत करते हैं. हमारे भारत से नही, मोदी के भारत से.”

आगे मणिशंकर अय्यर बोले, “फासिस्ट लोगों को यूरोप से लाना और उनको वहां भेजना, जबकि मैं और मेरे विपक्ष के साथी गण को वहां जाने से रोकते हैं. ये तानाशाही है और जमुरियात के खिलाफ है. ये कहना कि 370 की वजह से वहां विकास नहीं हुआ तो ये झूठ है. 370 तो न बिहार, गुजरात में है, लेकिन कश्मीर का विकासदर उन राज्यों से ज़्यादा है.”

ये भी पढ़ें-  सिद्धू ने फिर कबूला इमरान का न्‍यौता, करतारपुर कॉरिडोर के उद्घाटन में भी जाएंगे


‘जो हमसे युद्ध नहीं जीत सकते वो हमारी एकता को दे रहे चुनौती’, लौहपुरुष की 144वीं जयंती पर बोले पीएम