JNU आंदोलन के बीच कई नौकरशाहों का हुआ ट्रांसफर, शिक्षा सचिव भी हटे

आईएएस अधिकारी के तबादले को हालांकि रुटीन बताया जा रहा है, लेकिन माना जा रहा है कि जेएनयू छात्रों के लगातार चल रहे आंदोलन को ठीक से संभाल न पाने के चलते उन्हें इस अहम पद से हटाया गया है.

नई दिल्ली: नौकरशाहों के विभागों में शुक्रवार को महत्वपूर्ण फेरबदल हुए. इन आठ तबादलों और पोस्टिंग में से सबसे अधिक ध्यान मानव संसाधन विकास मंत्रालय (एचआरडी) से जुड़े उच्च शिक्षा विभाग में हुए फेरबदल ने खींचा है. उच्च शिक्षा सचिव आर. सुब्रह्मण्यम को मानव संसाधन विकास मंत्रालय से बाहर कर सामाजिक न्याय मंत्रालय में तबादला कर दिया गया है.

उनके तबादले को जेएनयू के विरोध प्रदर्शनों से संबंधित मामले में मंत्रालय-स्तर के संचालन में विफलता के रूप में देखा जा रहा है. आईएएस अधिकारी के तबादले को हालांकि रुटीन बताया जा रहा है, लेकिन माना जा रहा है कि जेएनयू छात्रों के लगातार चल रहे आंदोलन को ठीक से संभाल न पाने के चलते उन्हें इस अहम पद से हटाया गया है.

आर. सुब्रह्मण्यम का स्थान अमित खरे लेंगे, जो पहले सूचना एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय में सचिव थे. खरे इसके अलावा स्कूल शिक्षा व साक्षरता विभाग के सचिव का अतिरिक्त प्रभार संभालेंगे. इसके अलावा टी. वी. सोमनाथन को व्यय विभाग में सचिव के रूप में नियुक्त किया गया है, जबकि अरुण गोयल को संस्कृति मंत्रालय से भारी उद्योग विभाग में स्थानांतरित किया गया है.

वित्त मंत्रालय में वित्तीय सेवा विभाग के विशेष सचिव रवि मित्तल को सूचना एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय में स्थानांतरित कर दिया गया है. एडीबी के कार्यकारी निदेशक छत्रपति शिवाजी को प्रशासनिक सुधार एवं लोक शिकायत विभाग में सचिव के रूप में नियुक्त किया गया है.

कैबिनेट सचिवालय में सचिव (समन्वय) राजेश भूषण को ग्रामीण विकास मंत्रालय में स्थानांतरित कर दिया गया है. पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय में महानिदेशक (हाइड्रोकार्बन) वी. पी. जॉय ने राजेश भूषण का स्थान लिया है.