‘इस्लाम में हाथ जोड़ने की मनाही फिर भी मैं पीएम मोदी से हाथ जोड़कर अपील करती हूं…’, देखें VIDEO

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि, कश्मीर में अतिरिक्त बलों को भेजा जा रहा है. ये पहले से ही सुनियोजित था. लेकिन खबरें ऐसी भी आ रही हैं कि केंद्र सरकार जम्मू कश्मीर से धारा 35ए और 370 को खत्म करना चाहती है.

श्रीनगर: जम्मू कश्मीर में अतिरिक्त बलों की तैनाती और अमरनाथ यात्रियों को वापस बुलाने की एडवाइजरी के बाद घाटी में ऊहापोह की स्थिति बनी हुई है. जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने इस मामले में प्रेस कॉन्फ्रेंस की है. महबूबा मुफ्ती ने कहा कि 1947 में शेख साहब ने पाकिस्तान में जाना गंवारा नहीं समझा. उन्होंने इसी मुल्क में रहना पसंद किया. लेकिन जम्मू कश्मीर को जो भी विशेष राज्य का दर्जा दिया गया है उससे छेड़छाड़ नहीं होनी चाहिए.

जम्मू-कश्मीर में अतिरिक्त सुरक्षाबलों की तैनाती पर पीडीपी की मुखिया महबूबा मुफ्ती ने कहा कि वैसे तो इस्लाम में हाथ जोड़ने की मनाही है. लेकिन वो पीएम मोदी से हाथ जोड़कर अपील करती हैं कि जम्मू-कश्मीर को जो संवैधानिक आजादी मिली है उसमें वो किसी तरह की छेड़छाड़ न करें.

उन्होंने कहा कि मोदी जी आप बहुत बड़ा जमनत लेकर आए हैं. आप से अपील है कि आप हमारी खास पहचान को बरकरार रखें. जम्मू-कश्मीर सरकार द्वारा एडवाइजरी जारी किये जाने के बाद अफरातफरी का माहौल है. वो चाहती हैं कि सरकार कोई ऐसा काम न करे जिससे घाटी में गलत संदेश जाए.

इससे पहले कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि, कश्मीर में अतिरिक्त बलों को भेजा जा रहा है. ये पहले से ही सुनियोजित था. लेकिन खबरें ऐसी भी आ रही हैं कि केंद्र सरकार जम्मू कश्मीर से धारा 35ए और 370 को खत्म करना चाहती है इसकी वजह से ऐसा किया जा रहा है. लेकिन आज तो एडवाइजरी गर्वमेंट ऑफ इंडिया की तरफ से होम मिनिस्टरी की तरफ से दी गई है वो बहुत ही चिंताजनक है.

गुलाम नबी आजाद ने कहा कि जम्मू कश्मीर में पिछले तीस सालों से आतंकवाद है लेकिन कभी यात्रा को ऐसे नहीं रोकी गई. पिछले 10 सालों से तो पूरी तरह शांत माहौल है. पहले जैसा माहौल नहीं है. घाटी में पूरी तरह से शांति है. मिलिटैंट भी नहीं है. हम लोगों ने आज मीटिंग की है. आज पूरे हिंदुस्तान में चिंता का माहौल है. जम्मू कश्मीर, लद्दाख के लोग नहीं चाहते कि यहां से धारा 370 और 35ए हटे.

पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने ट्वीट करते बताया कि श्रीनगर की सड़कों पर पूरी अव्यवस्था फैल गई है. लोग एटीएम, पेट्रोल पंपों और जरूरी सामान लेने के लिए सड़कों पर उतर आए हैं. क्या भारत सरकार को सिर्फ यात्रियों की सुरक्षा की फिक्र है जबकि कश्मीरियों को उनके हाल पर छोड़ दिया गया है. सूबे की पूर्व मुख्यमंत्री और पीडीपी नेता महबूबा मुफ्ती ने कहा है कि कश्मीर में ‘कुछ बड़ा’ प्लान किया जा रहा है.

ये भी पढ़ें-

उन्नाव केस में SC का बड़ा फैसला- लखनऊ में ही होगा पीड़िता का इलाज, चाचा फौरन तिहाड़ जेल होंगे शिफ्ट

जब कुलदीप सेंगर के भाई ने UP पुलिस के DSP को मार दी थी गोली, मचा था हड़कंप

कभी करीबी था उन्‍नाव रेप पीड़‍िता और आरोपी विधायक कुलदीप सेंगर का परिवार, इस वजह से पड़ी दरार