ट्रंप की धमकी से डरा मेक्सिको, 311 भारतीयों को किया डिपोर्ट

रिपोर्ट के अनुसार, ये लोग मेक्सिको के वेराक्रूज, चिआपास, सोनोरा, ओआजाका, बाजा कैलिफोर्निया, मेक्सिको सिटी, डुरांगो और तबास्को राज्यों में रह रहे थे.

अमेरिका और मेक्सिको के बीच काफी लंबे समय से इम्मिग्रेंट्स को लेकर चल रहे विवाद के बीच मेक्सिको ने 311 भारतीयों को डिपोर्ट कर दिया है. एएनआई की रिपोर्ट के अनुसार, ये भारतीय गैर-कानूनी तरीके से पिछले कुछ महीनों में मेक्सिको पहुंचे.

यहां तक पहुंचने के लिए इनकी मदद कुछ अंतरराष्ट्रीय एजेंट्स ने की थी, जिन्होंने उन्हें यूनाइटेड स्टेट में कानूनी तौर पर घुसने का भरोसा दिलाया था. डिपोर्ट किए गए लोगों में 310 पुरुष और एक महिला शामिल है.

रिपोर्ट के अनुसार, बिना अपना नाम उजागर किए एक इम्मिग्रेंट ऑफिसर ने इस मामले पर बात करते हुए कहा, “प्रमुख रूप से ये यात्री भारत से दो प्राइवेट एयरलाइन्स के जरिए मेक्सिको पहुंचे थे. ट्रैवल एजेंट्स ने हर व्यक्ति से 25 से 30 लाख रुपए लिए और इन्हें मेक्सिको तक पहुंचाने की हर सुविधा प्रदान की. इसमें रहना, फ्लाइट का खर्चा और खान वगैरह शामिल था. एजेंट्स हफ्ते से लेकर महीना लेता है ताकि वह ऐसे लोगों के लिए यूनाइटेड स्टेट्स में घुसने का इंतजाम कर सके.”

रिपोर्ट के अनुसार, ये लोग मेक्सिको के वेराक्रूज, चिआपास, सोनोरा, ओआजाका, बाजा कैलिफोर्निया, मेक्सिको सिटी, डुरांगो और तबास्को राज्यों में रह रहे थे.

ट्रंप ने दी थी धमकी

जून में अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने मेक्सिको को चेताया था कि मेक्सिकों की सीमा के जरिए अगर लगातार इम्मिग्रेंट्स ऐसी ही अमेरिका में घुसते रहे तो सभी मेक्सिकों आयातों पर टैरिफ लगा दिए जाएंगे. इसके बाद से ही मेक्सिको सरकार सख्ते में है और वह इम्मिग्रेंट्स को वापस अपने देश डिपोर्ट करने का काम कर रही है.

 

ये भी पढ़ें-  पटना हाई कोर्ट में करप्शन का लगाया था आरोप, जस्टिस राकेश कुमार का हुआ तबादला

भारत में Nokia 110 लॉन्च, कीमत सिर्फ 1599 रुपये, स्नेक गेम और क्यूट लुक है खास