राजस्थान के सिरोही में क्रेश हुआ भारतीय वायु सेना का MIG-27

राजस्थान के जोधपुर से उड़ान भरने वाला भारतीय वायु सेना का MIG-27 लड़ाकू विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गया है.

जोधपुर. राजस्थान के सिरोही के पास रविवार सुबह भारतीय वायु सेना का MIG-27 यूपीजी (अपग्रेडेड) विमान क्रैश हो गया.  MIG-27 विमान एक रूटीन मिशन पर जोधपुर से उड़ा था.  इंजन में कुछ खराबी आ गई थी, जिसके कारण विमान क्रेश हुआ. विमान जोधपुर से दक्षिण में 120 किलोमीटर की दूरी पर क्रैश हुआ. पायलट विमान से सुरक्षित बाहर निकलने में सफल रहा. इस हादसे की जानकारी के लिए कोर्ट ऑफ इंक्वायरी बैठाई जाएगी. इससे पहले  फरवरी 2019 को भी एक MIG-27 दुर्घटनाग्रस्त हुआ था.

बीकानेर में MIG-21 क्रेश हुआ था
इससे पहले मार्च में ही MIG-21 विमान राजस्थान के बीकानेर में क्रैश हो गया था. तब गनीमत यह रही थी कि सूझबूझ के चलते MIG-21 में सवार पायलट और को-पायलट ने पैराशूट से छलांग लगा दी, जिसके चलते उनकी जान बच गयी थी. इस विमान ने पश्चिमी राजस्थान के सबसे महत्वपूर्ण एयरबेस बीकानेर स्थित वायु सेना के नाल एयरबेस से उड़ान भरी थी. उड़ान भरने के चंद ही मिनट के बाद यह शोभासर गांव के पास नीचे गिरता दिखाई दिया.

पायलटों का काल है MiG-21
MiG-21 को ‘Flying coffin‘ कहा जाता है. सोवियत संघ ने इसका निर्माण 1956 में शुरू किया था. 1964 में भारतीय सेना ने इस विमान को अपने बेड़े का हिस्सा बनाया. अगर जान-माल के नुकसान की बात करें तो 1970 से लेकर अब तक MiG-21, 170 पायलटों और 40 नागरिकों की जान ले चुका है. अब तक बनाए गए कुल 872, MiG-21 में से आधे से ज्यादा दुर्घटना का शिकार हो चुके हैं. रूस ने भी इसका इस्तेमाल 1985 में बंद कर दिया था. बांग्लादेश और अफगानिस्तान जैसे देशों ने भी अब MiG-21 को अपने जहाजी बेड़े से बाहर कर दिया है. हालांकी भारत अभी भी 2021-22 तक MiG-21 को इस्तेमाल करना चाहता है.