कोविड तो बस बहाना है, सरकारी दफ़्तरों को स्थायी ‘स्टाफ़ मुक्त’ बनाना है- राहुल का मोदी सरकार पर हमला

राहुल गांधी ने कोरोनावायरस (Coronavirus) को लेकर भी सरकार को घेरा. उन्होंने कहा कि कोविड तो बस बहाना है, सरकारी दफ़्तरों को स्थायी ‘स्टाफ़-मुक्त’ बनाना है,

कांग्रेस (Congress) के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने नौकरी के मुद्दे पर केंद्र की मोदी सरकार पर एक फिर निशाना साधा है. उन्होंने ट्वीट करते हुए मोदी सरकार की नीतियों को लेकर कटाक्ष किया. एक मीडिया रिपोर्ट का हवाला देते हुए राहुल गांधी ने लिखा, “मोदी सरकार की सोच- ‘मिनिमम गवर्नमेंट मैक्सीमम प्राइवेटाइजेशन’ पर आधारित है.

राहुल गांधी ने कोरोनावायरस (Coronavirus) को लेकर भी सरकार को घेरा. उन्होंने कहा कि कोविड तो बस बहाना है, सरकारी दफ़्तरों को स्थायी ‘स्टाफ़-मुक्त’ बनाना है, युवा का भविष्य चुराना है, ‘मित्रों’ को आगे बढ़ाना है.”

किस रिपोर्ट पर मोदी सरकार को लेकर किया कमेंट

जिस मीडिया रिपोर्ट का राहुल गांधी ने हवाला दिया है उसमें लिखा है कि कोरोना महामारी के चलते केंद्रीय सरकार ने हालातों से निपटने के लिए खर्च में कटौती शुरू की है. इसके तहत मंत्रालय के विभागों संवैधानिक संस्थाओं और संस्थानों में नए पद सृजन पर रोक लगा दी है. वही ऐसे पदों पर भर्ती तत्काल रोकने के लिए कहा गया है जो अभी तक भरे नहीं गए है.

बताते चलें कि राहुल गांधी और कांग्रेस पार्टी लगातार रोजगार के मुद्दे पर केंद्र सरकार पर हमला बोल रही है. यूथ कांग्रेस ने हाल ही में रोजगार दो नाम के कैंपेन की शुरुआत की है, जिसमें वह सरकार पर दबाव बना रहे हैं कि बेरोजगारी की समस्या को दूर किया जाए.

ये 6 ‘मोदी निर्मित आपदाएं’-राहुल गांधी

हाल ही में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने अलग-अलग मुद्दों पर केंद्र की मोदी सरकार की आलोचना की थी. राहुल गांधी ने अर्थव्यवस्था, बेरोजगारी, नौकरियां जाना, जीएसटी, कोरोनावायरस और सीमा विवादों पर मोदी सरकार को घेरा था. राहुल गांधी ने कहा कि देश इस वक्त ‘मोदी निर्मित आपदाओं’ में घूम रहा है.

राहुल गांधी ने ट्वीट में लिखा था, ‘भारत इस वक्त मोदी निर्मित आपदाओं में घूम रहा है.’ इसके बाद उन्होंने इन 6 चीजों का जिक्र किया.

  • जीडीपी 23 फीसदी गिरा
  • 45 सालों में सबसे ज्यादा बेरोजगारी
  • 12 करोड़ नौकरियां गईं
  • केंद्र राज्यों को जीएसटी बकाया नहीं दे रहा
  • वैश्विक स्तर पर रोजोना सबसे ज्यादा कोरोना केस
  • देश की सीमाओं पर तनाव की स्थिति

Related Posts