रंग लाई शहरी कार्य मंत्रालय की मुहिम, गूगल मैप से जुड़े 2,900 शहरों के 60 हजार शौचालय

दो साल पहले गूगल के साथ आवासन और शहरी कार्य मंत्रालय ने एक करार किया था. जिसके तहत देश भर में शौचालयों को गूगल मैप से जोड़ने की कवायद चल रही है.

  • TV9 Hindi
  • Publish Date - 8:45 pm, Sat, 17 October 20
प्रतीकात्मक

स्वच्छ भारत मिशन के तहत शहरों में बने शौचालयों को गूगल मैप से जोड़ने की मुहिम और आगे बढ़ गई है. अब देश के 2900 शहरों के 60 हजार शौचालयों को गूगल मैप से जोड़ने में सफलता मिली है. यह जानकारी आवासन और शहरी कार्य मंत्रालय के सूत्रों ने न्यूज एजेंसी IANS को दी है. दरअसल, दो साल पहले गूगल के साथ आवासन और शहरी कार्य मंत्रालय ने एक करार किया था. जिसके तहत देश भर में शौचालयों को गूगल मैप से जोड़ने की कवायद चल रही है.

शुरूआत में दिल्ली, भोपाल और इंदौर में ही योजना धरातल पर उतारी गई थी. जुलाई, 2020 तक देश के 2900 शहरों के शौचालयों को गूगल मैप से जोड़ा गया है. आवासन एवं शहरी मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया, “2900 शहरों के ये 60 हजार शौचालय करीब 55 प्रतिशत शहरी आबादी को कवर करते हैं. गूगल मैप से शौचालयों को जोड़ने से लोगों को उन्हें ढूंढने में आसानी होगी. इसके लिए सिर्फ गूगल पर ‘SBM टॉयलेट नियर मी’ लिखना होगा.”

‘शिनजियांग में नरसंहार जैसी हरकत, उइगर महिलाओं के बालों से चीन बना रहा हेयर प्रोडक्ट्स’

मंत्रालय का कहना है कि देश में साफ-सफाई को बढ़ावा दिए जाने के मकसद से लोगों को जागरूक करने के लिए हरसंभव कोशिशें की जा रही हैं. लोग अब प्रयोग वाले शौचालयों की साफ-सफाई के बारे में ऑनलाइन फीडबैक भी दे सकते हैं. गूगल मैप से शौचालयों के जुड़ने से कोई भी स्मार्टफोन से उन्हें खोज सकता है. अपरिचित शहरों में शौच लगने पर लोगों को भटकने की जरूरत नहीं पड़ेगी. गूगल उन्हें नजदीकी शौचालय ढूंढने में मदद करेगा.

बेरहम पति ने पत्नी और बेटी का किया कत्ल, फिर शवों के कर दिए 22 टुकड़े