मकान मालिक ने रख लिया सामान, रजिस्ट्रेशन भी नहीं हुआ, भूख से बिलख रहे हैं वैजयंती के बच्‍चे

तीन महीने पहले कमाने के मक़सद से पूरा परिवार बिहार (Bihar) से दिल्ली (Delhi) आया था. परिवार में दो बच्चे, पति और महिला खुद है. पति का काम लॉकडाउन (Lockdown) के चलते छूट गया. मकान का किराया नहीं दे सके तो मकान मालिक ने सारा सामान रख लिया.
miserable condition of migrant family, मकान मालिक ने रख लिया सामान, रजिस्ट्रेशन भी नहीं हुआ, भूख से बिलख रहे हैं वैजयंती के बच्‍चे

कोरोनावायरस (Coronavirus) के कहर को रोकने के लिए लगाए गए देशव्यापी लॉकडाउन (Lockdown) के बीच कई स्थानों पर गरीब बेसहारा प्रवासी मजदूरों की मार्मिक कहानियां सामने आ रही हैं. गरीबी, भुखमरी और कई जगहों पर मकान मालिकों के अत्याचार झेलते ये मजदूर सरकारी सहायता के भरोसे दर-दर की ठोकरें खा रहे हैं. इन्हीं में से एक है बिहार के पटना की रहने वाली वैजयन्ती देवी की कहानी. जिनका परिवार दिल्ली के वेस्ट विनोद नगर में सरकारी स्कूल के बाहर बैठा है. इनके दो छोटे-छोटे बच्चे है जो भूख से बिलख रहे हैं, बच्चों को कई दिनों से दूध नहीं मिला है.

देखिए NewsTop9 टीवी 9 भारतवर्ष पर रोज सुबह शाम 7 बजे

तीन महीने पहले कमाने के मक़सद से पूरा परिवार बिहार से दिल्ली आया था. परिवार में दो बच्चे,पति और महिला खुद है. पति का काम लॉकडाउन के चलते छूट गया. किराया देने को पैसे नहीं बचे तो घरों में काम कर के किसी तरह से परिवार का पेट पाला. अब मकान मालिक ने किराया न देने की वजह से पूरा समान रख लिया और घर से बेघर कर दिया है. पूरा सामान मकान मालिक के पास छोड़ कर टिकट की आस में ये परिवार लाइन लगाकर बैठा है.

इन दो महीनों में बेरोज़गारी,तंगहाली के साथ मकान मालिक का ज़ुल्म सहता ये परिवार यहां पहुंचा है. वैजयन्ती देवी ने बताया कि मकान मालिक ने पूरा सामान रखते हुए धमकी देकर भेजा है कि दो महीनों के अंदर किराया लेकर आए तो सामान देगा वरना सामान रख लेगा. पति सरकारी राशन के लिए हफ़्तों लाइन में लगा रहा लेकिन राशन तो नहीं मिला, लाठियां जरूर मिलीं.

सरकार के बुलावे पर ये लोग यहां आए हैं, लेकिन यहां भी हाल बेहाल है. पानी-खाना कुछ नहीं है, धूप गर्मी में अपनी बारी का इंतज़ार करते सुबह के पांच बजे से दिन के तीन बज गए लेकिन अब तक रजिस्ट्रेशन और स्क्रीनिंग (Screening) नहीं हो पायी है. भीड़ इतनी ज़्यादा है कि समझ नहीं आ रहा है कि नंबर कब तक आएगा.

miserable condition of migrant family, मकान मालिक ने रख लिया सामान, रजिस्ट्रेशन भी नहीं हुआ, भूख से बिलख रहे हैं वैजयंती के बच्‍चे

देखिये #अड़ी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर शाम 6 बजे

Related Posts