गगनयान में बैठ अंतरिक्ष जाने वाले भारतीयों को मिलेगा लजीज खाना, पढ़ें क्‍या है मेन्‍यू

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संस्थान (ISRO) ने गगनयान कार्यक्रम में भेजने के लिए चार अंतरिक्ष यात्रियों के चयन का ऐलान 1 जनवरी को कर दिया था. जल्दी ही रूस में इन अंतरिक्ष यात्रियों की ट्रेनिंग शुरू हो जाएगी.

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संस्थान (ISRO) ने गगनयान कार्यक्रम में भेजने के लिए चार अंतरिक्ष यात्रियों के चयन का ऐलान 1 जनवरी को कर दिया था. जल्दी ही रूस में इन अंतरिक्ष यात्रियों की ट्रेनिंग शुरू हो जाएगी. अंतरिक्ष में ये लोग खाना क्या खाएंगे, इसका मेन्‍यू भी तैयार किया जा चुका है.

अंतरिक्ष यात्रियों को गगनयान में जो खाना परोसा जाएगा उसमें एग रोल, वेज रोल, मूंग दाल का हलवा, वेज पुलाव और इडली मुख्य रूप से शामिल हैं. ये खाना मैसूर स्थित डिफेंस फूड रिसर्च इंस्टीट्यूट तैयार कर रहा है और इसे गर्म करने के लिए ओवन की व्यवस्था भी यान में रहेगी.

अंतरिक्ष यात्रियों के लिए इस खाने के अलावा लिक्विड फूड की व्यवस्था भी रहेगी जिसमें पीने का पानी और जूस वगैरह शामिल हैं. अंतरिक्ष में गुरुत्वाकर्षण बिल्कुल नहीं रहता, अंतरिक्ष यात्रियों को पानी पीने में दिक्कत न हो इसलिए विशेष पाउच पानी पीने के लिए बनाए गए हैं.

इसरो प्रमुख के सिवन ने बताया था कि चंद्रयान 3 और मिशन गगनयान,दोनों पर एक साथ काम चल रहा है. गगनयान पहला भारतीय अभियान होगा जिसके जरिए मानव को अंतरिक्ष में ले जाया जा रहा है. चंद्रयान की जानकारी देते हुए बताया कि इस मिशन की गतिविधियां सुचारू रूप से चल रही हैं, इसका प्रक्षेपण अगले साल तक किया जा सकता है.

ये भी पढ़ें

Forbes की टॉप 20 लोगों की लिस्ट में कन्हैया कुमार और प्रशांत किशोर का नाम शामिल

जब मैं JNU में पढ़ता था, तब कोई टुकड़े-टुकड़े गैंग नहीं था : विदेश मंत्री एस जयशंकर