पश्चिम बंगाल: NRC डेटा इकट्ठा करने के शक में भीड़ ने 20 साल की युवती का घर जलाया

हालांकि पुलिस का कहना है कि इस घटना का NRC से कोई संबंध नहीं है.

पश्चिम बंगाल के बीरभूम जिले में भीड़ ने NRC के लिए डेटा इकट्ठा करने के शक में बुधवार को एक 20 वर्षीय युवती के घर को आग के हवाले कर दिया. चमकी खातून नाम की युवती और उसका परिवार अब पुलिस की निगरानी में है. यह घटना गौड़बाजार गांव के मल्लारपुर पुलिस स्टेशन इलाके की है. हालांकि पुलिस का कहना है कि इस मामले का एनआरसी से कोई संबंध नहीं है.

जानकारी के मुताबिक खातून एक NGO के लिए कॉन्ट्रैक्ट पर काम कर रही थी. एक ऑनलाइन फर्म के साथ टाई अप के बाद यह NGO ग्रामीण क्षेत्र में महिलाओं को स्मार्टफोन का उपयोग करना सिखा रहा था और इसी प्रोजेक्ट के तहत खातून कुछ सामान्य डेटा अपनी ट्रेनिंग के लिए इकट्ठा कर रही थी.

रामपुरहाट के सब डिविजनल पुलिस अधिकारी सौम्यजीत बरुआ का कहना है कि, “हमें NRC से इस घटना का कोई संबंध नहीं मिला है. यह घटना गांव के भीतर की ही किसी मसले पर आधारित है. हमने मामले की पड़ताल शुरू कर दी है और स्थिति अब नियंत्रण में है.”

ये भी पढ़ें- जो मुस्लिम भारत का नागरिक है, उसे कोई मां का लाल छू नहीं सकता : राजनाथ सिंह