Modi Government, Modi Government in 2019, Modi Government 2019, 2019 Modi Government, Electoral Campaign, Electoral Campaign 2019, Electoral Campaign in 2019, Lok Sabha Elections, Lok Sabha Election 2019, national news, लोकसभा चुनाव 2019: अबकी बार चुनावी कैंपेन में कमजोर पड़ रही मोदी सरकार?
Modi Government, Modi Government in 2019, Modi Government 2019, 2019 Modi Government, Electoral Campaign, Electoral Campaign 2019, Electoral Campaign in 2019, Lok Sabha Elections, Lok Sabha Election 2019, national news, लोकसभा चुनाव 2019: अबकी बार चुनावी कैंपेन में कमजोर पड़ रही मोदी सरकार?

लोकसभा चुनाव 2019: अबकी बार चुनावी कैंपेन में कमजोर पड़ रही मोदी सरकार?

Modi Government, Modi Government in 2019, Modi Government 2019, 2019 Modi Government, Electoral Campaign, Electoral Campaign 2019, Electoral Campaign in 2019, Lok Sabha Elections, Lok Sabha Election 2019, national news, लोकसभा चुनाव 2019: अबकी बार चुनावी कैंपेन में कमजोर पड़ रही मोदी सरकार?

नई दिल्ली
2019 के लोकसभा चुनाव सिर पर हैं. लेकिन केन्द्र की सत्ता पर आसीन मोदी सरकार का चुनावी कैंपेन अभी तक जोर नहीं पकड़ पाया है. बल्कि अभी आधे-अधूरे ढंग से कैंपेन की तैयारियां ही चल रही हैं. 2014 के लोकसभा चुनाव से तुलना करने पर यह बात बिलकुल सही मालूम पड़ती है. 9 जून, 2013 को नरेन्द्र मोदी को भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) की ओर से चुनाव अभियान समिति का अध्यक्ष घोषित किया गया था. राजनीति पर पैनी नजर रखने वालों की मानें तो इस घोषणा के पहले दिन से ही भाजपा की चुनावी कैंपेन ने रंग पकड़ लिया था.

भाजपा ने अपनी चुनावी कैंपेन के लिए टेक्नोलॉजी का जमकर इस्तेमाल किया. साथ ही डोर टू डोर कैंपेन भी खूब की गई. इसके अलावा भाजपा के चुनावी श्लोगन्स जैसे कि ‘अबकी बार मोदी सरकार’ या ‘अच्छे दिन आने वाले हैं’ काफी लोकप्रिय हुए. लेकिन अबकी बार ऐसा कुछ नहीं हो रहा है.

2014 लोकसभा चुनाव के दौरान भाजपा ने देश के तकरीबन 5,000 जिलों में अपने दफ्तर खोले थे. भाजपा के दिल्ली हेडक्वार्टर द्वारा भेजे गए संदेशों को इन दफ्तरों से जन-जन तक पहुंचाया जाता था. इस कार्य में मोबाइल फोन्स और अन्य दूसरी तकनीकों का जमकर इस्तेमाल किया गया. इस बार भी भाजपा ModiForPM, ModiOnceMore और IITiansforModi जैसे ऑनलाइन ग्रुप्स के जरिए अपना संदेश लोगों को पहुंचा रही है. लेकिन ये 2014 वाली छाप नहीं छोड़ पा रहे हैं.

2014 में भाजपा के चुनावी कैंपेन में कुछ शख्सियतों ने अहम भूमिका निभाई थी. लेकिन 2019 में ये लोग अब भाजपा के साथ नहीं हैं. प्रशांत किशोर, अजय सिंह, राजेश जैन और अरविंद गुप्ता अब तक भाजपा के चुनावी कैंपेन से इस बार दूर हैं. इनके दोबारा पार्टी से जुड़ने की संभावना भी काफी कम है. इसे भी भाजपा के कमजोर पड़ते चुनावी कैंपेन के लिए जिम्मेदार माना जा रहा है.

अबकी बार भाजपा के चुनावी कैंपेन की जिम्मेदारी पार्टी अध्यक्ष अमित शाह पर है. 2014 में भी अमित शाह ने भाजपा के प्रचार-प्रसार में अहम भूमिका निभाई थी. अमित शाह को ‘चाणक्य’ तक कहा गया. लेकिन उस समय उनके पास पार्टी अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी नहीं थी. इससे भी भाजपा के चुनावी कैंपेन पर असर पड़ने की बात कही जा रही है.

हाल ही में भाजपा ने 2019 के लिए पार्टी का मेनिफेस्टो तैयार करने की जिम्मेदारी 17 कमेटियों को सौंपी है. ये कमेटियां अरुण जेटली, सुष्मा स्वराज और नितिन गडकरी जैसे वरिष्ठ पार्टी नेताओं की अगुवाई में कार्य कर रही हैं. ये मोदी सरकार की योजनाओं के लाभान्वितों से बात करेंगी और अन्य मतदाताओं की राय जानेंगी. लेकिन रिपोर्ट्स में मुताबिक, यह काम भी अभी बहुत धीरे और अस्पष्टता के साथ चल रहा है.

2019 के लोकसभा चुनाव 2014 से काफी अलग होने वाले हैं. 2014 में देश की जनता में कांग्रेस से नाराजगी का भाव था. साथ ही पूरे देश में ‘मोदी लहर’ चली थी. ऐसे में भाजपा के लिए चुनावी कैंपेन करना आसान था. लेकिन अबकी बार भाजपा रक्षात्मक मुद्रा में नजर आ रही है. इसलिए चुनावी कैंपेन के जरिए वोटरों को लुभा पाना इतना आसान नहीं होगा. यह देखना भी दिलचस्प होगा कि आने वाले दिनों में भाजपा की चुनावी कैंपेन में कोई धार आती है या नहीं.

Modi Government, Modi Government in 2019, Modi Government 2019, 2019 Modi Government, Electoral Campaign, Electoral Campaign 2019, Electoral Campaign in 2019, Lok Sabha Elections, Lok Sabha Election 2019, national news, लोकसभा चुनाव 2019: अबकी बार चुनावी कैंपेन में कमजोर पड़ रही मोदी सरकार?
Modi Government, Modi Government in 2019, Modi Government 2019, 2019 Modi Government, Electoral Campaign, Electoral Campaign 2019, Electoral Campaign in 2019, Lok Sabha Elections, Lok Sabha Election 2019, national news, लोकसभा चुनाव 2019: अबकी बार चुनावी कैंपेन में कमजोर पड़ रही मोदी सरकार?

Related Posts

Modi Government, Modi Government in 2019, Modi Government 2019, 2019 Modi Government, Electoral Campaign, Electoral Campaign 2019, Electoral Campaign in 2019, Lok Sabha Elections, Lok Sabha Election 2019, national news, लोकसभा चुनाव 2019: अबकी बार चुनावी कैंपेन में कमजोर पड़ रही मोदी सरकार?
Modi Government, Modi Government in 2019, Modi Government 2019, 2019 Modi Government, Electoral Campaign, Electoral Campaign 2019, Electoral Campaign in 2019, Lok Sabha Elections, Lok Sabha Election 2019, national news, लोकसभा चुनाव 2019: अबकी बार चुनावी कैंपेन में कमजोर पड़ रही मोदी सरकार?