मोदी सरकार भारतीय सेना के साथ है या चीन के? कोरोना काल में पकाए ख़याली पुलाव- राहुल गांधी

राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने ट्वीट कर लिखा, पीएम बोले कि कोई सीमा में नहीं घुसा, फिर चीन-स्थित बैंक से भारी कर्ज़ा लिया, फिर रक्षामंत्री ने कहा चीन ने देश में अतिक्रमण किया. मोदी सरकार भारतीय सेना के साथ है या चीन के साथ?

Rahul Gandhi attacked on Modi Government, मोदी सरकार भारतीय सेना के साथ है या चीन के? कोरोना काल में पकाए ख़याली पुलाव- राहुल गांधी

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने एक बार फिर केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साधा है. राहुल ने चीन सीमा विवाद से निपटने के तरीके को लेकर मोदी सरकार (Modi Government) की आलोचना की है.

राहुल गांधी ने ट्वीट के ज़रिए लिखा है कि आप क्रोनोलॉजी समझिए. पीएम बोले कि कोई सीमा में नहीं घुसा, फिर चीन-स्थित बैंक से भारी कर्ज़ा लिया, फिर रक्षामंत्री ने कहा चीन ने देश में अतिक्रमण किया. अब गृह राज्य मंत्री ने कहा अतिक्रमण नहीं हुआ. मोदी सरकार भारतीय सेना के साथ है या चीन के साथ? इतना डर किस बात का.


अपने इस ट्वीट से पहले भी राहुल गांधी ने एक और ट्वीट किया जिसमें उन्होंने लिखा कोरोना काल में भाजपा सरकार ने एक से एक ख़याली पुलाव पकाए. 21 दिन में कोरोना को हरायेंगे. आरोग्य सेतु ऐप सुरक्षा करेगा. 20 लाख करोड़ का पैकेज. आत्मनिर्भर बनो, सीमा में कोई नहीं घुसा. स्थिति संभाली हुई है. लेकिन एक सच भी था, आपदा में ‘अवसर’ #PMCares.

मंगलवार को भी राहुल गांधी ने केंद्र सरकार पर हमला करते हुए ट्वीट किया. उन्होंने लिखा मोदी सरकार नहीं जानती कि लॉकडाउन में कितने प्रवासी मज़दूर मरे और कितनी नौकरियां गयीं.

राहुल गांधी (Rahul Gandhi) का ये तंज ऐसे समय में आया है जब सोमवार को केंद्र सरकार ने एक सवाल के जवाब में कहा था कि इस बात कोई रिकॉर्ड नहीं रखा गया है कि लॉकडाउन (Coronavirus Lockdown) में कितने प्रवासी मजदूर (Migrant Laborers) मारे गए और कितनों की नौकरियां गईं.

राहुल ने शायराना अंदाज़ के ज़रिए अपनी बात कहने की कोशिश की. राहुल ने लिखा-

तुमने ना गिना तो क्या मौत ना हुई?
हाँ मगर दुख है सरकार पे असर ना हुई,
उनका मरना देखा ज़माने ने,
एक मोदी सरकार है जिसे ख़बर ना हुई।

इससे पहले संसद के मानसून सत्र के पहले भाग को याद कर राहुल गांधी ने ट्वीट के जरिए प्रधानमंत्री मोदी पर हमला किया था. सोमवार को उन्होंने कहा था कि‘देश में कोरोनावायरस (Corona Virus) के बढ़ते मामलों के बीच लोगों को अपनी जान खुद ही बचानी होगी, क्योंकि पीएम मोदी मोर के साथ व्यस्त हैं’.

Related Posts