ऐतिहासिक बदलाव के दौर से गुजर रहा है भारत, युवा और आध्यात्मिकता हमारी ताकत- बोले पीएम मोदी

पीएम मोदी ने कहा कि यह खुशी की बात है कि भूटान अपने लिए छोटे उपग्रह डिजाइन कर रहा है.

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने दो दिवसीय भूटान दौरे के आख़िरी दिन रविवार को द रॉयल यूनिवर्सिटी ऑफ भूटान के छात्रों को संबोधित किया. पीएम मोदी ने कहा कि आज भारत ऐतिहासिक बदलाव के दौर से गुजर रहा है. पिछले पांच साल में बुनियादी ढांचे के निर्माण कीर रफ्तार दोगुनी हो गई है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि युवा और आध्यात्मिकता हमारी ताकत है.

उन्होंने कहा कि भारत और भूटान के साथ ऊर्जा समेत कई क्षेत्रों में काम कर रहा है लेकिन सबसे बड़ी ऊर्जा दोनों देशों के बीच संबंध और यहां के लोग हैं. भारत और भूटान की साझा संस्कृति है. आज के समय में अवसरों की कमी नहीं है. भारत और भूटान के लोगों में जबर्दस्त जुड़ाव है. ऐसा इसलिए क्योंकि सिर्फ भौगोलिक तौर पर ही हम एक दूसरे के करीब नहीं है. बल्कि, हमारा इतिहास, संस्कृति और पारंपरिक रीति रिवाज यहां के लोगों और दोनों देशों के बीच एक दूसरे के संबंधों में प्रगाढ़ता लाता है.

पीएम मोदी ने कहा कि यह खुशी की बात है कि भूटान अपने लिए छोटे उपग्रह डिजाइन कर रहा है. युवा भूटानी वैज्ञानिक इसे लॉन्च करने के लिए भारत की यात्रा करेंगे. मुझे उम्मीद है कि किसी दिन जल्द ही आप में से कई वैज्ञानिक, इंजीनियर और इनोवेटर्स होंगे. मैं उम्मीद करता हूं कि भूटान के वैज्ञानिक भी सेटेलाइट बनाएंगे.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि हमने दक्षिण एशिया उपग्रह के थिंपू ग्राउंड स्टेशन का उद्घाटन किया और अपने अंतरिक्ष सहयोग का विस्तार किया.

बता दें कि भारत और भूटान ने इससे पहले अंतरिक्ष, विज्ञान, इंजीनियरिंग, न्यायिक और संचार सहित 10 क्षेत्रों में सहयोग के करारों पर हस्ताक्षर किये हैं. भूटान की दो दिन की यात्रा पर गये प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और वहां के प्रधानमंत्री लोतेय शेरिंग के बीच शिष्टमंडल स्तर की वार्ता के बाद इन समझौतों पर हस्ताक्षर किये गये.