सांसदों में बढ़ रहे कोरोना संक्रमण के मामले, एक हफ्ते पहले खत्म हो सकता है मानसून सत्र

सूत्रों के मुताबिक, अगर लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान लाए गए 11 अध्यादेशों के लिए विधेयक दोनों सदनों में पास हो जाते हैं तो सत्र के दिनों में कटौती संभव है. कहा जा रहा है कि सरकार अगले हफ्ते के शुरुआती कुछ दिनों में ही इन विधेयकों को सदन में पेश कर सकती है.

कोरोनावायरस महामारी (Coronavirus Pandemic) के बीच संसद (Parliament) का मानसून सत्र (Monsoon Session) जारी है. पिछले एक हफ्ते में अबतक 30 से अधिक सांसद कोरोना संक्रमित पाए जा चुके हैं जिनमें केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी और प्रहलाद पटेल भी शामिल हैं. कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए संसद में चिंताजनक स्थिति बनती दिख रही है. मौजूदा हालात में प्रोटोकॉल्स का और अधिक कड़ाई से पालन किया जा रहा है. साथ ही इस बात की संभावना बनती भी दिख रही है कि मानसून सत्र को एक हफ्ते पहले ही खत्म कर दिया जाए.

बीजेपी के विनय सहस्त्रबुद्धे के मामले ने सांसदों को चिंता में डाल दिया है. पिछले शुक्रवार को सहस्त्रबुद्धे का कोरोना टेस्ट निगेटिव आया था. इसके एक दिन बाद राज्यसभा में वो कोविड बहस पर बोलने वाले अपनी पार्टी की ओर से मुख्य वक्ता थे. विनय सहस्त्रबुद्धे ने गुरुवार को बताया कि पिछली रात उन्हें हल्के बुखार और सिर दर्द की शिकायत थी, वो कोरोना संक्रमित पाए गए हैं.

विनय सहस्त्रबुद्धे के मामले ने बढ़ाई चिंता

तृणमूल कांग्रेस के सांसद डेरेक ओ ब्रायन ने उनके शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की. साथ ही डेरेक ने उन सभी सदस्यों से कहा कि जो सहस्रबुद्धे के संपर्क में आए थे या उनके पास बैठे थे, वो खुद को आइसोलेट कर लें. उन्होंने यह भी ध्यान दिलाया कि सहस्रबुद्धे ने ट्रेजरी बेंच से एक भाषण दिया था और हाउस लॉबी और सेंट्रल हॉल में समय बिताया होगा.

अगर ये विधेयक पास हो गए तो…

मीडिया में सूत्रों के हवाले से खबर है कि अगर लॉकडाउन के दौरान लाए गए 11 अध्यादेशों के लिए बिल दोनों सदनों में पास हो जाते हैं तो सत्र के दिनों में कटौती संभव है. कहा जा रहा है कि सरकार अगले हफ्ते के शुरुआती कुछ दिनों में ही इन विधेयकों को सदन में पेश कर सकती है. मालूम हो कि कम से कम विपक्षी दलों के 2 सांसद कह चुके हैं कि सत्र अगले हफ्ते के मध्य में ही समाप्त किया जा सकता है.

Related Posts