करोड़ों के कर्ज में डूबी जेट एयरवेज का बेड़ा पार लगाएंगे मुकेश अंबानी!

ख़बर है कि रिलायंस इंडस्ट्रीज यूएई की एतिहाद एयरवेज के साथ जेट एयरवेज के शेयर खरीद सकती है. हालांकि रिलाइंस ने अभी तक कोई EoI जमा नहीं किया है.

नई दिल्ली: मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड ने अस्थाई रूप से बंद हो चुकी जेट एयरवेज और घाटे में चल रही एयर इंडिया के शेयर का हिस्सेदार बनने में दिलचस्पी दिखाई है. अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस ने सूत्रों के हवाले से बताया है कि रिलायंस इंडस्ट्रीज यूएई की एतिहाद एयरवेज के साथ जेट एयरवेज के शेयर खरीद सकती है.

रिलायंस ने अभी नहीं दिया EoI
एतिहाद एयरवेज की फिलहाल जेट एयरवेज के शेयर्स में 24 फीसदी की हिस्सेदारी है. जेट एयरवेज के शेयर खरीदने के लिए एतिहाद एयरवेज पहले ही एक्सप्रेशन ऑफ इंट्रेस्ट (ईओआई) सबमिट कर चुकी हैं. हालांकि, रिलाइंस ने अभी तक कोई ईओआई जमा नहीं किया है.

अखबार के मुताबिक, रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के एक प्रवक्ता ने इस कुछ साफ तौर पर कहने से मना कर दिया. उन्होंने कहा, “नीति के मुताबिक, हम मीडिया के कयासों पर कोई टिप्पणी नहीं करते. हमारी कंपनी लगातार संभावनाओं के बारे में विचार करती रहती है.”

8,000 करोड़ रुपये से अधिक का बकाया
बता दें कि जेट एअरवेज पर एसबीआई की अगुवाई में बैंकों के कंसोर्टियम का 8,000 करोड़ रुपये से अधिक बकाया है. जेट ने बुधवार को देर रात अपनी सारी उड़ानें अनिश्चितकाल के लिए रद्द कर दीं.

Read Also: जेट एयरवेज के पायलट और केबिन क्रू को प्रतिद्वंदी स्पाइस जेट ने दी नौकरी

एयरलाइन के दोबारा चालू होने की उम्मीद कंपनी के शेयरों की बिक्री पर आधारित है. बिक्री प्रक्रिया की पहल भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) की अगुवाई में कर्जदाताओं के समूह द्वारा की गई है.

शेयर खरीदने में इनकी भी रुचि
आधिकारिक बयान के अनुसार, एसबीआई की अगुवाई में कर्जदाताओं ने कहा है कि उनको शेयरों की बिक्री की प्रक्रिया के सफल होने की उम्मीद है. उद्योग सूत्रों के अनुसार, जेट एयरवेज के शेयर खरीदने की दौड़ में प्राइवेट इक्विटी फर्म टीपीजी कैपिटल, इंडिगो पार्टनर्स और एनआईआईएफ व एतिहाद एयरवेज शामिल हैं.

(Visited 76,415 times, 2 visits today)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *