साकेत कोर्ट में फिर टला मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस का फैसला, CBI से मांगा दो दिनों में जवाब

सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर 7 फरवरी 2019 को मामला बिहार से दिल्ली ट्रांसफर किया गया था और 23 फरवरी 2019 से ही इस मामले की लगातार साकेत कोर्ट में नियमित सुनवाई चल रही थी.
Muzaffarpur shelter home case, साकेत कोर्ट में फिर टला मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस का फैसला, CBI से मांगा दो दिनों में जवाब

मुजफ्फरपुर शेल्टर होम रेप केस में दिल्ली के साकेत डिस्ट्रिक्ट कोर्ट में मंगलवार को भी फैसला टल गया. अब कोर्ट 20 जनवरी को फैसला सुनाएगा. कोर्ट ने कहा कि सभी आरोपियों के जमानती नहीं होने के कारण फैसले की सुनवाई टाली जा रही है.

सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर 7 फरवरी 2019 को मामला बिहार से दिल्ली ट्रांसफर किया गया था और 23 फरवरी 2019 से ही इस मामले की लगातार साकेत कोर्ट में नियमित सुनवाई चल रही थी. इस पूरे मामले की 30 सितंबर को अंतिम बहस पूरी कर ली थी और मामले में अपना आदेश सुरक्षित कर लिया था. हाल ही में मामले की सुनवाई हुई थी जिसमें कोर्ट ने 14 जनवरी तक के लिए फैसला टाल दिया था.

मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर सहित अन्य आरोपियों के वकील की ओर से कोर्ट में याचिका दाखिल कर कहा गया है कि सीबीआई ने हलफनामे में जिन लड़कियों ने यह बयान दिया कि 31 लड़कियों की हत्या की गई वह बाद में झूठी निकली. ट्रायल के दौरान पीड़ित लड़कियों ने कोर्ट को अपने बयान में कहा था कि वहां न सिर्फ लड़कियों का यौन शोषण हुआ था, बल्कि कई की हत्या कर शेल्टर होम में ही उनकी लाश को दबा दिया गया था.

Muzaffarpur shelter home case, साकेत कोर्ट में फिर टला मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस का फैसला, CBI से मांगा दो दिनों में जवाब

याचिका में कहा गया कि पीड़ित लड़कियों के दर्ज बयान पर विश्वास ना किया जाए और उन्हें आधार ना माना जाए. साकेत कोर्ट ने ब्रजेश ठाकुर की अर्जी पर सीबीआई को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है. सीबीआई को नोटिस देकर दो दिनों में जवाब दाखिल करने के लिए कहा है. इस मामले के मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर सहित 20 आरोपियों को जज के सामने पेश किया गया था.

शेल्टर होम में रेप और मर्डर का यह सनसनीखेज मामला टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ सोशल साइंसेज (TISS) की रिपोर्ट सामने आने के बाद सामने आया था. इस मामले में मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर का को बिहार सरकार का बेहद करीबी बताया जाता है. साकेत कोर्ट ने ब्रजेश ठाकुर समेत अन्य आरोपियों के खिलाफ पोक्सो, रेप, आपराधिक साजिश जैसी धाराओं में आरोप तय किया है.

ये भी पढ़ें –

NCRB की रिपोर्ट ने खोली बिहार में नीतीश सरकार की पोल, हत्या और दहेज के मामले बढ़े

पूरा नॉर्थ इंडिया ठंड से परेशान मगर बिहार के इस जिले में चल रही ‘लू’, डीएम ने बंद कराए स्‍कूल

Related Posts