राजीव गांधी के हत्‍यारों में से एक नलिनी को म‍िली महीने भर की छुट्टी, कराएंगी बेटी की शादी

नलिनी इस दौरान वेल्‍लोर से बाहर नहीं जा सकेंगी और किसी नेता या मीडिया से बात नहीं कर पाएंगी.

चेन्‍नई: पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की हत्या के मामले में सात दोषियों में से एक नलिनी श्रीहरन को एक महीने की छुट्टी मिल गई है. उन्‍हें गुरुवार को वेल्‍लोर जेल से रिहा कर दिया गया. नलिनी को अपनी बेटी की शादी का इंतजाम करने के लिए महीने भर की छुट्टी दी गई है. नलिनी इस दौरान वेल्‍लोर से बाहर नहीं जा सकेंगी और किसी नेता या मीडिया से बात नहीं कर पाएंगी.

नलिनी ने अपनी दलील में कहा कि हर दोषी दो साल की जेल की सजा के बाद एक महीने की साधारण छुट्टी का हकदार होता है और उसने पिछले 27 साल में एक बार भी छुट्टी नहीं ली है. नलिनी ने व्यक्तिगत रूप से अपने मामले में पैरवी की थी.

दोषियों में ए.जी. पेरारिवलन, वी. श्रीहरन उर्फ मुरुगन, टी. सुतेंद्रराजराजा उर्फ संतन, जयकुमार, रॉबर्ट पायस, रविचंद्रन और श्रीहरन की पत्नी नलिनी श्रीहरन हैं. इनमें भारतीय और श्रीलंकाई दोनों हैं. सभी सात लोग 1991 से जेल में हैं, जब LTTE की महिला आत्मघाती हमलावर ने चेन्नई में एक चुनावी जनसभा में राजीव गांधी की हत्या कर दी थी. राजीव गांधी की हत्या के लिए लिबरेशन टाइगर ऑफ तमिल इलम (एलटीटीई) पर आरोप लगा था. श्रीलंकाई सेना ने तमिल टाइगरों को 2009 में खत्म कर दिया था.

ये भी पढ़ें

भ्रष्टाचारी नंबर वन या मिस्टर क्लीन? पढ़ें राजीव गांधी की बतौर प्रधानमंत्री 5 सफलता-विफलता

राजीव गांधी के हाथ में दिखने वाले ‘डिजिटल कैमरे’ की सच्चाई