बांग्लादेश से भारत में लड़कियां लाकर देह व्यापार कराने का आरोप, NIA ने गिरोह के सरगना को किया गिरफ्तार

अब्दुल सलाम अपने साथियों के साथ मिलकर बांग्लादेश और भारत (India) के बीच एक नेटवर्क बनाया हुआ था. इस नेटवर्क के जरिये वे सभी बांग्लादेश में लड़कियों को बहकाते थे और उन्हें भारत लाकर देह व्यापार में ढकेल देते थे.
National Investigation Agency NIA, बांग्लादेश से भारत में लड़कियां लाकर देह व्यापार कराने का आरोप, NIA ने गिरोह के सरगना को किया गिरफ्तार

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने मानव तस्करी (Human Trafficking) के आरोप में अब्दुल सलाम और उसकी बांग्लादेशी पत्नी को गिरफ्तार किया है. इन दोनों पर आरोप है कि ये बांग्लादेश से अवैध रूप से लड़कियों को लाकर भारत के विभिन्न शहरों में वेश्यावृत्ति कराते थे.

छापेमारी में महत्वपूर्ण दस्तावेज भी बरामद

NIA ने छापेमारी के दौरान इनके ठिकानों से बांग्लादेश से वेश्यावृत्ति के लिए लाई गई तीन युवा लड़कियों को भी बरामद किया गया है. NIA का दावा है कि हैदराबाद में हुई इस छापेमारी में अनेक महत्वपूर्ण दस्तावेज भी बरामद किए गए हैं.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

इस मामले में तीन बांग्लादेशी नागरिकों मोहम्मद यूसुफ खान, सोजी और बिट्टी बेगम उर्फ खदीजा शेख समेत एक भारतीय नागरिक अमीन अली की पहले ही गिरफ्तारी हो चुकी है. इन सभी के खिलाफ 12 मार्च 2020 को ही आरोप पत्र दाखिल कर दिया गया था. लेकिन तब से इस मामले का मास्टरमाइंड अब्दुल सलाम फरार था.

‘बांग्लादेश में लड़कियों को बहकाते थे’

NIA अधिकारियों के मुताबिक, अब्दुल सलाम अपने साथियों के साथ मिलकर बांग्लादेश और भारत के बीच एक संगठित नेटवर्क बनाया हुआ था. इस नेटवर्क के जरिये वे सभी बांग्लादेश में लड़कियों को बहकाते थे और उन्हें भारत लाकर देह व्यापार में ढकेल देते थे.

एक सीनियर अधिकारी ने बताया कि छापेमारी के दौरान अब्दुल सलाम की पत्नी शिवली खातून से भी पूछताछ की गई जो 29 साल की बांग्लादेशी नागरिक है. शिवली ने भी साल 2012 में बांग्लादेश से अवैध तरीके से भारत में प्रवेश किया था. शिवली खातून ने अपने पति अब्दुल को ना केवल वेश्याग्रह चलाने में मदद की बल्कि सीमा पार से मानव तस्करी में भी उसका हाथ रहा.

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

Related Posts