सिद्धू की CM अमरिंदर को चिट्ठी, लिखा- मेरे क्षेत्र को किया नजरअंदाज, विकास का काम रुका

पंजाब (Punjab) की कांग्रेस सरकार (Congress Government) पर निशाना साधते हुए सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) ने लिखा कि अमृतसर इंप्रूवमेंट ट्रस्ट ने निर्वाचन क्षेत्र के लिए 13 करोड़ रुपये मंजूर किए थे, लेकिन काम ठप पड़ा है.
sidhu letter to cm amrinder, सिद्धू की CM अमरिंदर को चिट्ठी, लिखा- मेरे क्षेत्र को किया नजरअंदाज, विकास का काम रुका

कई दिनों से राजनीतिक बयानबाजी से दूर पूर्व कैबिनेट मंत्री और अमृतसर ईस्ट से विधायक नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) एक बार फिर से सक्रिय हो गए हैं. ओवरसीज कांग्रेस (Congress) की ‘स्पीक अप इंडिया’ पहल पर बढ़ते कर्ज और भ्रष्टाचार को लेकर अपनी ही सरकार पर निशाना साधने के लगभग एक महीने बाद नवजोत सिंह सिद्धू ने मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (CM Cpt. Amrinder Singh) को एक लेटर लिखा है.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

एक साल बाद सिद्धू का अमरिंदर से कम्युनिकेशन

इस लेटर में सिद्धू ने कहा है कि उनके निर्वाचन क्षेत्र को नजरअंदाज कर दिया गया है और सभी विकास कार्य रुक गए हैं. पिछले साल 15 जुलाई को पंजाब कैबिनेट छोड़ने के बाद सिद्धू का सीएम से यह पहला कम्युनिकेशन है.

दरअसल, सिद्धू द्वारा इमरान खान के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने के बाद से उनके और सीएम अमरिंदर के बीच तनातनी थी. दोनों के बीच काफी दरार आ गई थीं. आम चुनावों के दौरान दरार तब और बढ़ गई जब सिद्धू और उनकी पत्नी ने अमरिंदर पर आरोप लगाया कि चंडीगढ़ या अमृतसर से उन्हें टिकट देने से इनकार करने में उनका हाथ है.

विकास कार्यों को लेकर की शिकायत

16 जुलाई को सीएम अमरिंदर को लिखे इस लेटर में सिद्धू अपने निर्वाचन क्षेत्र में विकास कार्यों में गंभीर चूक बताते हैं. इस लेटर में मुख्य सचिव सुरेश कुमार और अमृतसर के डिप्टी कमिश्नर शिवदुलार सिंह ढिल्लों का भी जिक्र किया गया है.

लेटर में सिद्धू ने लिखा, “अक्टूबर 2018 में शुरू हुआ 137 करोड़ रुपये की लागत वाले पांच पुलों का काम घोंघा की गति से चल रहा है. इसके बाद भी जब मैंने व्यक्तिगत रूप से रेलवे मंत्रालय से अप्रूवल लेने का प्रयास किया, जो अन्यथा वर्षों में हो जाता है, पर अब तक कुछ भी नहीं हुआ है.” बता दें कि इन पांच पुल में से दो सिद्धू के निर्वाचन क्षेत्र में आते हैं.

‘मेरे इस्तीफे के बाद से नहीं हुआ कोई काम’

सिद्धू ने लिखा कि पिछले साल दिसंबर में अमृतसर ईस्ट के लिए पंजाब पर्यावरण सुधार परियोजना (फेज -1) के तहत सीएम ने 5 करोड़ रुपये के कार्यों की सिफारिश की थी, लेकिन अभी तक कुछ नहीं किया गया. सीएम ने इस साल जून में पंजाब पर्यावरण सुधार परियोजना (फेज -2) के तहत 24 करोड़ रुपये आवंटित किए थे. मैंने उपरोक्त योजना के तहत 11 करोड़ रुपये के विकास कार्यों के लिए डिटेल और स्पेसिफिकेशन सब्मिट कराईं.

पंजाब की कांग्रेस सरकार पर निशाना साधते हुए सिद्धू ने लिखा कि अमृतसर इंप्रूवमेंट ट्रस्ट ने निर्वाचन क्षेत्र के लिए 13 करोड़ रुपये मंजूर किए थे, लेकिन काम ठप पड़ा है. उन्होंने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है, लेकिन यह सच है कि इस्तीफा देने के बाद से मेरे निर्वाचन क्षेत्र में कोई काम नहीं हुआ. बार-बार डिप्टी कमिश्नर और विभिन्न विभागों से पूछताछ की, लेकिन ये सिर्फ काम कागजों पर ही मौजूद हैं.

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

Related Posts