गैंगस्टर इकबाल मिर्ची से प्रफुल्ल पटेल का लिंक! कोर्ट ने भेजा समन, 18 अक्टूबर को पूछताछ करेगी ED

पटेल के परिवार की तरफ से प्रमोटिड कंपनी मिलेनियम डेवेलपर्स प्राइवेट लिमिटेड और मिर्ची परिवार के बीच हुए लीगल एग्रीमेंट की ED में जांच की जा रही है.

ED पूर्व नागरिक उड्डयन मंत्री और NCP के नेता प्रफुल्ल पटेल के परिवार की कंपनी के कथित तौर पर दाऊद इब्राहिम के करीबी इकबाल मेमन मिर्ची के परिवार के साथ वित्तीय साझेदारी और जमीन सौदे की जांच कर रही है. लिहाजा ED ने 18 अक्टूबर को प्रफुल्ल पटेल को पूछताछ के लिए समन भेजा है.

मिर्ची और प्रफुल्ल पटेल के परिवार की प्रमोटिड कंपनी के बीच वित्तीय सौदा हुआ था. पटेल के परिवार की तरफ से प्रमोटिड कंपनी मिलेनियम डेवेलपर्स प्राइवेट लिमिटेड और मिर्ची परिवार के बीच हुए लीगल एग्रीमेंट की ED में जांच की जा रही है.

सूत्रों के मुताबिक, इस सौदे में पटेल के परिवार की कंपनी मिलेनियम डेवेलपर्स को मिर्ची परिवार की ओर से एक प्लॉट दिया गया था, मिर्ची का यह प्लॉट वर्ली के नेहरू प्लेटेरियम की प्राइम लोकेशन पर था इसी प्लॉट पर मिलेनियम डेवेलपर्स ने 15 मंजिला सीजे हाउस का निर्माण किया हुआ है. यह कमर्शियल और रिहायशी इमारत है.

ED इस जांच को उन कागजों के आधार पर आगे बढ़ा रही है जो पिछले दो हफ्तों में मुंबई और बंगलूरू में की गई छापेमारी के दौरान मिले, एजेंसी को मिले एक दस्तावेज दिखाते हैं कि इकबाल मेमन की पत्नी हजरा मेमन वर्ली के प्लॉट की मालिक हैं इन दस्तावेजों में एक समझौता शामिल है जो प्लॉट का पुनर्विकास करने के लिए हजरा और मिलेनियम डेवेलपर्स के बीच हुआ है.

2006-07 के दौरान हुए सौदे के हिस्से के रूप में सीजे हाउस की दो मंजिलों को 2007 में मेमन को लाभकारी हित के तहत हस्तांतरित की गई हैं. ED सूत्रों के मुताबिक, 14,000 स्कवायर फीट पर बनी इन दो मंजिलों की कीमत 200 करोड़ रुपये है मिलेनियम डेवेलपर्स प्राइवेट लिमिटेड में प्रफुल्ल और उनकी पत्नी शेयरधारक हैं.