ED को चकमा देकर दफ्तर से फरार हुए कमलनाथ के भांजे रतुल पुरी, फिर कोर्ट से मिली राहत

शनिवार को ही रतुल पुरी को अगस्ता वेस्टलैंड मामले में पूछताछ के लिए तलब किया था. रतुल ईडी के दफ्तर तो पहुंचे लेकिन मौका देखकर वह ईडी ऑफिस से फरार हो गए. इसके बाद उनकी तरफ से उनके वकील कोर्ट के सामने पेश हुए.

भोपाल: मध्‍य प्रदेश के मुख्‍यमंत्री कमलनाथ के भांजे रतुल पुरी की सोमवार तक गिरफ्तारी पर रोक लग गई है. दिल्ली की रॉउज एवेन्यू कोर्ट ने गिरफ्तारी पर रोक लगाई है. कोर्ट ने अपने फैसले में कहा कि इस मामले का जिला जज फैसला करेंगे कि केस की सुनवाई यही कोर्ट करें या अन्य कोर्ट.

कोर्ट ने रतुल पूरी से कहा हैं इस बीच अगर प्रवर्तन निदेशालय (ED) पूछताछ के लिए बुलाए तो उन्हें उसमें भाग लेना पड़ेगा. ED ने कहा कि ED के वकील डीपी सिंह मौजूद नहीं हैं लिहाजा सोमवार तक सुनवाई टाल दी जाए.

ED ने यह भी कहा कि फाइल मोटी है पढ़ने में काफी समय लगेगा. लिहाजा बहस करना संभव नही है. हालांकि ED की ओर से पेश वकील नवीन माटा ने अग्रिम जमानत का विरोध किया. उन्होंने कहा कि रतुल पूरी से फरवरी से पूछताछ चल रही है, अभी तक गिरफ्तार नही किया गया तो ऐसा क्या हो गया कि रतुल पूरी को गिरफ्तारी का डर सताने लगा.

मालूम हो कि शनिवार को ही रतुल पुरी को अगस्ता वेस्टलैंड मामले में पूछताछ के लिए तलब किया था. रतुल ED के दफ्तर तो पहुंचे लेकिन मौका देखकर वह ED ऑफिस से फरार हो गए. इसके बाद उनकी तरफ से उनके वकील कोर्ट के सामने पेश हुए. रतुल पुरी अगस्ता वेस्टलैंड केस में ED की जांच के दायरे में हैं. उनके खिलाफ टैक्स चोरी के भी कई मामले हैं, जिनकी जांच इनकम टैक्स डिपार्टमेंट कर रहा है.

ये भी पढ़ें: IED बनाने में उस्ताद था मुन्ना लाहौरी, शोपियां में सेना ने कर दिया काम तमाम