65 हजार की स्कूटी पर एक लाख का जुर्माना, नई-नवेली गाड़ी का काटा गया चालान

शोरूम से स्कूटी बाहर आई ही थी कि रजिस्ट्रेशन न होने के कारण अधिकारियों ने 1 लाख रूपए का चालान काट दिया.

नया मोटर व्हीकल कानून लागू होने के बाद से ही चालान कटने के अजीबोगरीब मामले सामने आ रहे हैं. ओडिशा के भुवनेश्वर से एक ऐसा ही चौंकाने वाला मामला सामने आया है. शोरूम से स्कूटी बाहर आई ही थी कि पुलिस ने उसका 1 लाख का चालान काट दिया. दरअसल स्कूटी पर नंबर प्लेट नहीं था.

यह मामला 12 सितम्बर का है. कटक निवासी अरुण पांडा स्कूटी लेकर घर जा रहे थे. चेक पोस्ट पर सड़क परिवहन अधिकारियों ने उन्हें रोका. स्कूटी पर रजिस्ट्रेशन न होने के कारण अधिकारियों ने 1 लाख रूपए का चालान काट दिया.

हालांकि यह जुर्माना डीलर पर लगाया गया है क्योंकि रजिस्ट्रेशन नंबर देने का काम डीलर का है. 28 अगस्त को अरुण ने होंडा एक्टिवा अपनी पत्नी कविता के नाम पर खरीदी थी. 1 लाख का चालान होने के बाद कविता ने बताया कि शोरूम ने रजिस्ट्रेशन नंबर ही नहीं दिया.

इसके बाद RTO ने भुवनेश्वर के अधिकारियों को डीलर का ट्रेड लइसेंस भी रद्द करने को कहा क्योंकि डीलर ने बिना किसी डॉक्यूमेंट के स्कूटी डिलीवर की थी. कटक RTO दीप्ति रंजन पात्रो ने बताया की मोटर व्हीकल अधिनियम के तहत डीलर को वाहन देने से पहले रजिस्ट्रेशन नंबर, बीमा और प्रदूषण प्रमाण पत्र खरीदार को देना होगा.

इससे पहले भी ओडिशा से एक हैरान करने का मामला सामने आया था. पुलिस ने एक ट्रक का 6 लाख 53 हजार 100 रुपये का चालान काटा था. ट्रक के मालिक ने 2014 से टैक्स का भुगतान नहीं किया था. ट्रक नागालैंड का था.