तमिलनाडु में नहीं लाने देंगे 3 भाषा का फार्मूला, नई शिक्षा नीति पर दोबारा विचार करे केंद्र: पलानीस्वामी

पलानीस्वामी (Edappadi K Palaniswami) ने तमिलनाडु में नई शिक्षा नीति को लागू नहीं करने का ऐलान किया है. उन्होंने प्रधानमंत्री से अपील की है कि वो इस पर दोबारा विचार करें
new National Education Policy, तमिलनाडु में नहीं लाने देंगे 3 भाषा का फार्मूला, नई शिक्षा नीति पर दोबारा विचार करे केंद्र: पलानीस्वामी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल ने नई शिक्षा नीति (national education policy 2020) को मंजूरी दे दी है. इस नई शिक्षा नीति (NEP 2020) में स्कूली शिक्षा को लेकर कई बड़े बदलाव किए गए हैं. हालांकि तमिलनाडु के मुख्यमंत्री पलानीस्वामी (Edappadi K Palaniswami) की इस बारे में राय अलग है. उनके मुताबिक नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 (New National Educational Policy) में किए गए बदलाव दर्दनाक हैं. पलानीस्वामी का कहना है कि वो तमिलनाडु में 3 भाषा का फार्मूला लागू नहीं होने देंगे.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

पलानीस्वामी ने तमिलनाडु में नई शिक्षा नीति को लागू नहीं करने का ऐलान किया है. उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अपील की है कि वो इस पर दोबारा विचार करें. मुख्यमंत्री की मांग है कि नई शिक्षा नीति लागू करने के लिए राज्यों को छूट दी जानी चाहिए कि वो इसे अपने मुताबिक लागू कर सकें.

दरअसल नई शिक्षा नीति के तीन भाषा के फार्मूले के अनुसार कौन सी भाषा लागू की जाएगी ये राज्यों पर निर्भर करेगा. बावजूद इसके तमिलनाडु के राजनीतिक दल इसे केंद्र की तरफ से राज्य में हिंदी भाषा थोपने के प्रयास के रूप में देख रहे हैं.

इससे पहले द्रमुक अध्यक्ष एम.के. स्टालिन ने भी नई शिक्षा नीति पर सवाल उठाए थे. उनका आरोप था कि इस नीति के लागू होने के एक दशक के अंदर शिक्षा कुछ लोगों तक ही सिमट कर रह जाएगी.

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

Related Posts