पराली जलाने पर रोक के लिए यूपी-हरियाणा-पंजाब के प्रयास काफी नहीं: NGT

NGT ने तीनों राज्यों को नवंबर में दोबारा स्टेटस रिपोर्ट दाखिल करने को कहा है, जिससे पता चल सके कि अक्टूबर से लेकर नवंबर के बीच में पराली जलाने से रोकने के लिए सरकार ने क्या-क्या उपाय किए हैं.

NGT (नेशनल ग्रीन ट्रिब्युनल/राष्ट्रीय हरित अधिकरण) में पराली जलाने को लेकर दिल्ली के पड़ोसी राज्यों यूपी, हरियाणा और पंजाब तीनो ने अपनी स्टेटस रिपोर्ट दाखिल कर दी है.

NGT ने तीनों राज्यों द्वारा पराली जलाने से रोकने के अब तक के प्रयासों पर नाख़ुशी ज़ाहिर की है. NGT ने तीनों राज्यों के सामने स्पष्ट कर दिया है कि उन्हें कोशिश नहीं परिणाम चाहिए.

कोर्ट ने कहा कि राज्य सरकारों की गैर ज़िम्मेदारी की वजह से आम जनता प्रदूषण क्यों झेले? NGT ने सभी राज्यों को हिदायत दी है कि वह हर हाल में अपने अधिकारियों को जिम्मेदार बनाते हुए पराली को रोकने की हर संभव कोशिशें करें.

NGT ने तीनों राज्यों को नवंबर में दोबारा स्टेटस रिपोर्ट दाखिल करने को कहा है, जिससे पता चल सके कि अक्टूबर से लेकर नवंबर के बीच में पराली जलाने से रोकने के लिए सरकार के द्वारा क्या-क्या उपाय किए गए हैं.

NGT अब इस मामले में 15 नवंबर को दोबारा सुनवाई करेगी.