Nirbhaya Case: फांसी से दो दिन पहले दोषी अक्षय ने चला नया पैंतरा, राष्ट्रपति के यहां दोबारा लगाई दया याचिका

मालूम हो कि 17 फरवरी को पटियाला हाउस कोर्ट ने इस मामले में नया डेथ वॉरंट जारी किया था. उसी दिन मामले की सुनवाई के दौरान अक्षय के वकील एपी सिंह ने कोर्ट में बताया था कि वे राष्ट्रपति के समक्ष दोबारा दया याचिका लगाना चाहते हैं.
Nirbhaya Case convict Akshay moves new Mercy petition, Nirbhaya Case: फांसी से दो दिन पहले दोषी अक्षय ने चला नया पैंतरा, राष्ट्रपति के यहां दोबारा लगाई दया याचिका

निर्भया गैंगरेप के एक दोषी अक्षय ने अब फांसी से बचने के लिए एक बार फिर से राष्ट्रपति के यहां दया याचिका लगाई है. इससे पहले भी अक्षय ने राष्ट्रपति के पास दया याचिका लगाई थी लेकिन वो खारिज कर दी गई थी.

मालूम हो कि 17 फरवरी को पटियाला हाउस कोर्ट ने इस मामले में नया डेथ वॉरंट जारी किया था. जिसके मुताबिक सभी चारों दोषियों को 3 मार्च को फांसी दी जानी है. उसी दिन मामले की सुनवाई के दौरान अक्षय के वकील एपी सिंह ने कोर्ट में बताया था कि वे राष्ट्रपति के समक्ष दोबारा दया याचिका लगाना चाहते हैं.

एपी सिंह ने कहा, “अभी हम अक्षय की दया याचिका फाइल कर रहे हैं. पुरानी दया याचिका कंप्लीट नहीं थी उसमें अक्षय के हस्ताक्षर नहीं थे. अब हम पूरे कागजात के साथ अक्षय की दया याचिका दायर करना चाहते हैं.”

दोषी पवन ने SC में लगाई क्यूरेटिव पिटीशन

इससे पहले शुक्रवार को दोषी पवन गुप्ता ने सुप्रीम कोर्ट में क्यूरेटिव पिटीशन दायर की है. इस याचिका में उसने मांग की कि 3 मार्च को दी जाने वाली फांसी पर रोक लगा दी जाए और मौत की सजा को आजीवन कारावास में तब्दील कर दिया जाए. चारों दोषियों में से एक दोषी पवन के पास अभी भी लीगल रेमेडीज बाकी थीं. पवन ने अब से पहले न ही सुप्रीम कोर्ट में क्यूरेटिव पिटीशन दायर की थी और न ही राष्ट्रपति के सामने दया याचिका लगाई थी.

ये भी पढ़ें:

Nirbhaya Case: फांसी से पहले दोषी पवन ने सुप्रीम कोर्ट में दायर की क्यूरेटिव पिटीशन

Nirbhaya Case: ये डेथ वॉरंट भी नहीं है फाइनल, जानें दोषियों के पास अब क्या है आखिरी विकल्प?

Related Posts