‘सोनिया गांधी की तरह माफ कर दो’, ऐसी सलाह देने वाली इंदिरा जयसिंह पर भड़कीं निर्भया की मां

निर्भया की मां ने कहा कि "ऐसे लोग रेपिस्‍ट्स का साथ देकर पैसा कमाते हैं, इसी वजह से रेप की घटनाएं नहीं रुकतीं."

निर्भया की मां आशा देवी ने दोषियों को माफ कर देने की सलाह देने वाली वरिष्‍ठ वकील इंदिरा जयसिंह को खरी-खोटी सुनाई. जयसिंह ने कहा था कि निर्भया की मां को ‘सोनिया गांधी की राह पर चलकर दोषियों को माफ कर देना चाहिए.’ इसपर आशा देवी ने कहा कि “इंदिरा जयसिंह कौन होती हैं मुझे ऐसी सलाह देने वाली? पूरा देश दोषियों को फांसी चढ़ते देखना चाहता है. उन जैसे लोगों की वजह से रेप पीड़‍िताओं को इंसाफ नहीं मिलता.”

आशा देवी ने आगे कहा, “यकीन नहीं होता कि कैसे इंदिरा जयसिंह ने ऐसा सुझाव देने की हिम्‍मत की. मैं उनसे सुप्रीम कोर्ट में कई बार मिली हूं और उन्‍हें एक बार मेरा हाल भी पूछा था और आज वो दोषियों के लिए बोल रही हैं. ऐसे लोग रेपिस्‍ट्स का साथ देकर पैसा कमाते हैं, इसी वजह से रेप की घटनाएं नहीं रुकतीं.”

क्‍या कहा था जयसिंह ने?

वरिष्‍ठ वकील ने ट्वीट किया था, “मैं आशा देवी का दर्द समझती हूं मगर मैं उनसे सोनिया गांधी के रास्‍ते पर चलने को कहूंगी जिन्‍होंने नलिनी (राजीव गांधी की हत्‍यारिन) को माफ कर दिया और कहा कि उसके लिए मौत की सजा नहीं चाहतीं. हम आपके साथ हैं मगर मौत की सजा के खिलाफ.”

दोषियों के वकील को बार काउंसिल का नोटिस

दूसरी तरफ, बार कॉउंसिल ऑफ़ दिल्ली ने निर्भया के 3 दोषियों के वकील ए पी सिंह को नोटिस जारी कर 2 हफ़्तों में जवाब मांगा है. दरअसल दिल्ली हाई कोर्ट ने बार कॉउंसिल ऑफ़ दिल्ली को कहा था कि कोर्ट के बुलाने के बाद भी वो कोर्ट में पेश नही हुए ऐसे में उनके खिलाफ करवाई की जाए.

निर्भया के दोषी पवन ने निचली अदालत के फैसले को चुनोती देते हुए हाई कोर्ट में याचिका दाखिल करते हुए कहा था कि घटना के वक्त वो नाबालिग था. इसी मामले की सुनवाई के दौरान कोर्ट ने ए पी सिंह को पेश होने के किये कोर्ट स्टॉफ से सूचित कराया था लेकिन वो पेश नही हुए थे. हाई कोर्ट ने पवन की याचिका को खारिज करते हुए ए पी सिंह पर 25 हज़ार का जुर्माना भी लगाया था.

ये भी पढ़ें

निर्भया गैंगरेप के चारों आरोपियों को 1 फरवरी, सुबह 6 बजे दी जाएगी फांसी

निर्भया के दोषियों को फांसी में देरी से दुखी हैं मल्लिका शेरावत, पढ़ें क्‍या कहा