अमेरिका की शादियों से प्रभावित हैं गोवा के विधायक, एक पार्टी में नहीं टिकते : नितिन गडकरी

गडकरी गोवा की राजधानी पणजी में एक जनसभा को संबोधित कर रहे थे.

पणजी: केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने ने गोवा के विधायकों की तुलना अमेरिका की शादियों से की है. पणजी की एक चुनावी जनसभा में उन्‍होंने कहा कि गोवा के विधायक इतनी जल्‍दी पार्टी बदल लेते हैं कि ऐसा लगता है कि वे अमेरिका की शादियों से प्रेरित हैं, जो ‘लंबी नहीं चलतीं’. गडकरी ने यह भी कहा कि मुख्‍यमंत्री प्रमोद सावंत को कुनबा बचाए रखने में खासी जद्दोजहद करनी पड़ रही है.

गडकरी ने कहा, “गोवा ने देश के सभी रिकॉर्ड्स तोड़ दिए हैं. राज्‍य की एक सांस्कृतिक और बौद्धिक पहचान होने के बावजूद, गोवा के विधायक इतनी जल्‍दी-जल्‍दी पार्टी बदलते हैं. शायद अमेरिका से प्रभावित हैं. उस देश में शादियां लंबी नहीं टिकतीं. वो यहां-वहां जाते हैं जैसे गार्डन में टहल रहे हों. जो लोग लगातार हरियाली ढूंढते रहते हों, ऐसे लोगों को एक जगह रखना और सरकार चलाना मुश्किल है.”

गडकरी ने ही गोवा में करवाया था गठबंधन

2017 के विधानसभा चुनाव में राज्‍य की 40 में सिर्फ 13 सीटें बीजेपी ने जीती थीं. फिर नितिन गडकरी ने यहां पर गठबंधन करने में महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाई थी. नई सरकार बनने के बाद, बीजेपी ने कांग्रेस से तीन और एमजीपी से दो विधायक अपने पाले में किए हैं.

बीजेपी में शामिल हुए तीन विधायकों में से दो की सीटों पर इसी माह चुनाव होना है. पार्टी की किस्‍मत इन सीटों के नतीजों पर टिकी है. पर्रिकर के निधन के बाद गठबंधन बिखर न जाए, इसके लिए भी गडकरी को ही जिम्‍मा सौंपा गया था.

पणजी में 19 मई को उपचुनाव होना है. गोवा के पूर्व मुख्‍यमंत्री मनेाहर पर्रिकर के निधन के बाद यह सीट खाली हुई है.

ये भी पढ़ें

“BJP न कभी सिर्फ अटल-आडवाणी जी की पार्टी बनी और न ही कभी सिर्फ मोदी-शाह की बनेगी”

नितिन गडकरी ने बताया, अबकी बार किसकी सरकार?