अब्‍दुल्‍ला आजम को राहत नहीं, हाई कोर्ट के आदेश पर रोक लगाने से SC का इंकार

साल 2017 के विधानसभा चुनाव में अब्दुल्ला ने बहुजन समाज पार्टी के नेता नवाज काजिम अली को करारी शिकस्त दी थी.

Abdullah Azam Khan, अब्‍दुल्‍ला आजम को राहत नहीं, हाई कोर्ट के आदेश पर रोक लगाने से SC का इंकार

समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता आजम खान के बेटे अब्दुल्ला आजम खान को सुप्रीम कोर्ट से बड़ा झटका लगा है. विधायकी रद्द करने के मामले में सुप्रीम कोर्ट पहुंचे अब्दुल्ला की याचिका पर CJI जस्टिस अरविंद बोबड़े की अध्यक्षता वाली तीन सदस्यीय पीठ ने सुनवाई की.

जस्टिल बोबड़े वाली पीठ ने इलाहाबाद होई कोर्ट के उस फैसले पर रोक लगाने से इंकार किया है, जिसमें अब्दुल्ला की विधायकी रद्द कर दी गई थी. इसके साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने याचिकाकर्ता काजिम अली खान को भी नोटिस जारी कर जवाब मांगा है. इस मामले की अगली सुनवाई 25 मार्च को होगी.

साल 2017 के विधानसभा चुनाव में अब्दुल्ला ने बहुजन समाज पार्टी के नेता नवाज काजिम अली को करारी शिकस्त दी थी. रामपुर के सुआर विधानसभा क्षेत्र से अब्दुल्ला विधायक बने. इसके बाद काजिम ने एक याचिक दायर कर अब्दुल्ला की उम्र को लेकर याचिका दायर कर उनकी विधायकी रद्द करने की मांग की थी.

इलाहाबाद हाइकोर्ट ने अब्दुल्ला आज़म को अयोग्य क़रार देते हुए उनकी विधायकी रद्द कर दी थी. हाईकोर्ट ने यह कहते हुए अब्दुल्ला की विधायकी रद कर दी थी कि साल 2017 में उनकी उम्र चुनाव लड़ने के लिए कम थी.

ज्ञात हो कि अब्दुल्ला आजम सपा सांसद आजम खान के छोटे बेटे हैं। साल 2017 के उप्र विधानसभा चुनाव में अब्दुल्ला ने पहली बार चुनाव लड़ा था। अब्दुल्ला ने रामपुर क्षेत्र की स्वार विधानसभा सीट से चुनाव जीता था।

विधानसभा चुनाव में रामपुर में आजम खान और उनके बेटे अब्दुल्ला अपनी-2 सीटें जीतने में कामयाब रहे थे। अब्दुल्ला आजम ने भाजपा उम्मीदवार लक्ष्मी सैनी को 50 हजार से ज्यादा मतों से हराया था, जबकि बसपा के नवाब काजिम अली तीसरे नंबर रहे थे।

 

ये भी पढ़ें-   निर्भया केस : दोषी मुकेश की दया याचिका राष्‍ट्रपति ने खारिज की, फांसी पक्‍की

बिहार : कागज खो गए तो डिप्रेशन में आ गया, मां-बीवी और 3 बेटियों को गला घोंटकर मार डाला

Related Posts