CAB 2019: त्रिपुरा के ज्वाइंट मूवमेंट ने वापस ली हड़ताल, गृह मंत्री शाह से मुलाकात के बाद किया ऐलान

असम और त्रिपुरा से हिंसक प्रदर्शनों की खबर है. गुवाहाटी में हिंसा के बाद कर्फ्यू लगाया गया है. सेना से तैयार रहने को कहा गया है.
CAB Protests in North East, CAB 2019: त्रिपुरा के ज्वाइंट मूवमेंट ने वापस ली हड़ताल, गृह मंत्री शाह से मुलाकात के बाद किया ऐलान

नागरिकता (संशोधन) विधेयक (CAB) 2019 का पूर्वोत्‍तर के राज्‍यों में खासा विरोध हो रहा है. असम, त्रिपुरा और मेघालय में लोग सड़कों पर हैं. सेना की पांच टुकड़ी असम में तैनात की गई है. प्रत्येक टुकड़ी में 70 सैनिक और एक-दो अधिकारी होते हैं. त्रिपुरा में असम राइफल्स की तीन टुकड़ी तैनात की गई है. सेना के प्रवक्ता अमन आनंद ने कहा कि असम और त्रिपुरा सरकारों की डिमांड के बाद सेना की आठ टुकड़ियां दोनों प्रदेशों में तैनात की गई हैं.

रेलवे पुलिस सिक्‍योरिटी फोर्स (RPSF) की 12 कंपनियां नॉर्थ ईस्‍ट में भेजी गई हैं ताकि रेलवे प्रॉपर्टी का बचाव हो सके. फ्लाइट्स कैंसिल हैं. ट्रेनों को शॉर्ट टर्मिनेट किया जा रहा है. असम, त्रिपुरा और मिजोरम की पैसेंजर ट्रेनें भी रद्द कर दी गई हैं.

Citizenship Amendment Bill 2019 Protests in North East Updates

  • नागरिकता संशोधन बिल के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे त्रिपुरा के ज्वाइंट मूवमेंट के एक प्रतिनिधिमंडल ने गुरुवार को दिल्ली में गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की. शाह से मुलाकात के बाद उन्होंने अपनी अनिश्चितकालीन हड़ताल खत्म करने की घोषणा की है.

CAB Protests in North East, CAB 2019: त्रिपुरा के ज्वाइंट मूवमेंट ने वापस ली हड़ताल, गृह मंत्री शाह से मुलाकात के बाद किया ऐलान

  • नागरिकता संशोधन बिल पास होने के बाद पूर्वोत्तर राज्यों में विरोध प्रदर्शन उग्र हो गया है. गुवाहाटी में बिल के विरोध में प्रदर्शन करने वाले दो लोगों को गोली लगी थी, जिनकी गुरुवार शाम को मौत हो गई है. गुवाहाटी मेडिकल कॉलेज ने इस खबर की पुष्टि की है.
  • संसद से पारित नागरिकता संशोधन विधेयक (सीएबी) को लेकर चल रहा विरोध प्रदर्शन उग्र रूप लेता जा रहा है. प्रदर्शनकारियों ने गुरुवार को एक विधायक के घर, वाहनों और सर्किल ऑफिस को आग के हवाले कर दिया. सरकार ने कार्रवाई करते हुए गुवाहाटी के पुलिस कमिश्नर सहित मुख्य पुलिस अधिकारी को निलंबित कर दिया.

CAB Protests in North East, CAB 2019: त्रिपुरा के ज्वाइंट मूवमेंट ने वापस ली हड़ताल, गृह मंत्री शाह से मुलाकात के बाद किया ऐलान

  • गुवाहाटी का नया पुलिस प्रमुख दीपक कुमार के स्थान पर मुन्ना प्रसाद गुप्ता को बनाया गया है, जबकि अतरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून-व्यवस्था) मुकेश अग्रवाल का भी तबादला कर दिया गया है.
  • गुवाहाटी में सेना ने फ्लैग मार्च किया. प्रशासन ने गुरुवार 12 बजे से राज्य में अगले 48 और घंटों के लिए इंटरनेट सेवाओं को बंद कर दिया है. यहां तक कि अधिकांश एयरलाइनों ने डिब्रूगढ़ और गुवाहाटी से उड़ानें रद्द कर दीं और ट्रेन की आवाजाही रोक दी गई है.
  • असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने लोगों से शांत होने और शांति व्यवस्था को बनाए रखने की अपील की है. उन्होंने यहां एक बयान जारी कर लोगों से आग्रह कर कहा, “मैं असम के लोगों को उनकी पहचान सुनिश्चित करने के लिए पूर्ण सुरक्षा का आश्वासन देता हूं. कृपया आगे आए और शांति के लिए प्रयास करें.”

CAB Protests in North East, CAB 2019: त्रिपुरा के ज्वाइंट मूवमेंट ने वापस ली हड़ताल, गृह मंत्री शाह से मुलाकात के बाद किया ऐलान

  • मुख्यमंत्री ने कहा, “मुझे उम्मीद है कि लोग इस अपील को समझदारी से समझेंगे.” वहीं, अधिकारियों ने कहा कि उग्र हुए प्रदर्शनकारियों ने चबुआ में विधायक बिनोद हजारिका के घर में आग लगा दी और वाहनों और सर्कल ऑफिस को भी आग के हावले कर दिया.
  • बिगड़ती स्थिति के मद्देनजर गुरुवार सुबह जहां कर्फ्यू तोड़ा गया था, उस स्थान पर सेना फ्लैग मार्च कर रही है. एनएससीबीआई हवाईअड्डे के प्रवक्ता ने कहा, “इंडिगो एयरलाइंस ने कोलकाता से गुवाहाटी आने वाही एक फ्लाइट को रद्द कर दिया है. प्रदर्शन के मद्देनजर अधिकतर एयरलाइंस ने डिब्रूगढ़ आने वाली ज्यादातर उड़ानें रद्द कर दी गई हैं.”
  • उन्होंने आगे कहा, “हालांकि, डिब्रूगढ़ से फंसे हुए यात्रियों को वापस लाने के लिए इंडिगो फेरी विमान का संचालन करेगी.” वहीं, पूर्वोत्तर सीमांत रेलवे अधिकारी ने कहा कि सुरक्षा स्थिति के मद्देनजर यात्री ट्रेन परिचालन को निलंबित करने का निर्णय बुधवार रात लिया गया.
  • पूर्वोत्तर में कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल सीआरपीएफ की 12 अतिरिक्त कंपनियां गुरुवार को कश्मीर से रवाना हो गईं.
  • सूत्रों ने आईएएनएस से कहा कि नागरिकता संशोधन विधेयक, 2019 को लेकर शुरू हुए विरोध प्रदर्शनों के बाद से अबतक कश्मीर से पूर्वोत्तर के लिए 40 कंपनियां भेजी जा चुकी हैं.
  • जम्मू एवं कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 को पांच अगस्त को समाप्त किए जाने से पहले राज्य में सीआरपीएफ की 100 से अधिक कंपनियां तैनात की गई थीं.

CAB Protests in North East, CAB 2019: त्रिपुरा के ज्वाइंट मूवमेंट ने वापस ली हड़ताल, गृह मंत्री शाह से मुलाकात के बाद किया ऐलान

  • नागरिकता संशोधन विधेयक के संसद के दोनों सदनों में पारित हो जाने के बाद से पूर्वोत्तर में, खासतौर से असम में लोग विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं.
  • विधेयक में पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश में धार्मिक प्रताड़ना के कारण भाग कर भारत आए गैर मुस्लिम अल्पसंख्यकों को भारतीय नागरिकता प्रदान करने का प्रावधान है.
  • केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने कहा कि ‘केरल नागरिकता संशोधन बिल को स्वीकार नहीं करेगा. CAB असंवैधानिक है. केंद्र सरकार भारत को धर्म के आधार पर बांटने की कोशिश कर रही है. यह समानता और धर्मनिरपेक्षता में तोड़-फोड़ की दिशा में उठाया गया कदम है.’

  • असम में नागरिकता संशोधन विधेयक 2019 (सीएबी) का विरोध कर रहे प्रदर्शनकारियों से निपटने के लिए और अधिक सुरक्षाबलों की जरूरत है. यह बात राज्य के एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कही.
  • डिब्रूगढ़ के पुलिस अधीक्षक गौतम बोराह ने गुरुवार को आईएएनएस को बताया कि आंदोलनकारी मुख्य रूप से रेलवे स्टेशन से लेकर सरकारी कार्यालयों व सार्वजनिक संपत्तियों को निशाना बना रहे हैं, लेकिन हालात फिलहाल काबू में हैं.
  • बुधवार से कर्फ्यू लगाए जाने के बावजूद असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल के गृहनगर डिब्रूगढ़ में सीएबी विरोधी प्रदर्शनकारियों ने हिंसक विरोध प्रदर्शन जारी रखा. स्थिति और बिगड़ने की आशंका जताते हुए बोराह ने कहा कि पुलिस बल कम है, क्योंकि प्रदर्शनकारी एक साथ कई स्थानों को निशाना बना रहे हैं.

CAB Protests in North East, CAB 2019: त्रिपुरा के ज्वाइंट मूवमेंट ने वापस ली हड़ताल, गृह मंत्री शाह से मुलाकात के बाद किया ऐलान

  • बोराह ने कहा, “लोग बड़ी संख्या में बाहर आ रहे हैं. हमें और अधिक सुरक्षाबलों की जरूरत है, क्योंकि 4,000 से 5,000 लोग कुछ स्थानों पर एकत्रित हो रहे हैं. मैंने अपने उच्च अधिकारियों से बात की है, क्योंकि ये घटनाएं अलग-अलग जगहों पर एक ही समय में हो रही हैं.”
  • बुधवार को सीएबी को राज्यसभा की मंजूरी मिलने के बाद असम में विरोध प्रदर्शन तेज हो गए हैं. आंदोलनकारियों ने बुधवार को मुख्यमंत्री के घर पर पथराव भी किया.
  • बांग्लादेश के विदेश मंत्री ने नागरिकता संशोधन विधेयक 2019 के पारित होने के बाद गुरुवार को भारत की अपनी यात्रा स्थगित कर दी है. विदेश मंत्रालय का हालांकि कहना है कि दोनों घटनाक्रमों का आपस में कोई संबंध नहीं है.
  • विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने मीडिया से बातचीत में कहा कि बांग्लादेश के विदेश मंत्री ए. के. अब्दुल मोमिन ने अवगत कराया है कि उन्होंने 16 दिसंबर को बांग्लादेश के विजय दिवस के स्मरणोत्सव से संबंधित घरेलू मुद्दों के कारण अपना कार्यक्रम बदल दिया है.

  • कुमार ने कहा, “उन्होंने हमें यात्रा के स्थगित होने के बारे में सूचित किया है. उन्होंने यह भी बताया है कि मंत्री ने 16 दिसंबर को बांग्लादेश के विजय दिवस की स्मृति से संबंधित घरेलू मुद्दों पर अपना कार्यक्रम बदल दिया है.”
  • उन्होंने कहा कि ‘संसद द्वारा नागरिकता संशोधन विधेयक को पारित करने और इस घटनाक्रम के संबंध में किसी भी तरह की अटकलें अनुचित हैं. बांग्लादेश की वर्तमान सरकार संसद में अपने भाषण से गृहमंत्री अमित शाह की टिप्पणी के हवाले से धार्मिक अल्पसंख्यकों का ख्याल रख रही है.’
  • उन्होंने संसद में गृहमंत्री अमित शाह द्वारा की गई टिप्पणी का हवाला देते हुए कहा कि बांग्लादेश की वर्तमान सरकार अल्पसंख्यकों का ख्याल रख रही है.
  • कुमार ने कहा कि दोनों राष्ट्र मानते हैं कि यह उनके संबंधों का स्वर्णिम युग है. हमने कभी नहीं कहा कि वर्तमान सरकार के कार्यकाल में बांग्लादेश में धार्मिक उत्पीड़न हुआ है.
  • एक्टर और असम बीजेपी नेता जतिन बोरा ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया है.

  • गृह मंत्री अमित शाह 15 दिसंबर को सिलॉन्ग में नॉर्थ-ईस्टर्न पुलिस एकेडमी जाएंगे.
  • असम के सीएम सर्बानंद सोनोवाल ने असम के लोगों से शांति बनाए रखने की अपील करते हुए कहा, “मैं असम के सभी लोगों से शांति बनाए रखने की अपील करता हूं. यह हमारी सांस्कृतिक, सामाजिक और आध्यात्मिक परंपरा है. मेरा विश्वास है कि हमेशा की तरह असम के लोग आने वाले समय में शांति बनाए रखेंगे.”
  • असम में CAB पर मचे बवाल के बीच, बांग्‍लादेश के विदेश मंत्री एके अब्‍दुल मेमन ने अपना भारत दौरा रद्द कर दिया है. उन्‍हें 12 से 14 दिसंबर के बीच आना था. हालांकि उन्‍होंने इसके पीछे अन्‍य कार्यक्रमों में व्‍यस्‍तता का हवाला दिया है. बुधवार को मोमिन ने CAB की आलोचना की थी. उन्‍होंने कहा था, “ऐतिहासिक रूप से भारत एक सहिष्‍णु देश रहा है जो सेक्‍युलरिज्‍म में यकीन रखता है. अगर वे उससे डिगेंगे तो उनकी ऐतिहासिक स्थिति कमजोर होगी.
  • असम के एडिशनल डायरेक्‍टर जनरल ऑफ पुलिस (लॉ एंड ऑर्डर) मुकेश अग्रवाल को ट्रांसफर कर CID का ADGP बना दिया गया है.
  • गुवाहाटी शहर में चारों तरफ अराजकता है. लोग सड़कों पर टायर, लकड़ी जला रहे हैं. लोहे के ग्रिल तोड़े जा रहे हैं. सभी तरफ के रास्तों को बंद कर दिया गया है. सुरक्षा बल लगातार सड़कों पर पैट्रोलिंग कर रहे हैं. दुकानें और बाजार सब बंद है. भारत-जापान समिट के लिए शहर भर में जो तैयारी की गई थी, उसे नुकसान पहुंचाया गया है.
  • पश्चिम बंगाल की मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी ने सिटिजनशिप अमेंडमेंट बिल और नेशनल रजिस्‍टर ऑफ सिटिजंस (NRC) को लेकर 20 दिसंबर को पार्टी नेताओं की बैठक बुलाई है.
  • आज दोपहर 12 बजे से, असम में अगले 48 घंटों के लिए इंटरनेट बंद कर दिया गया है.

CAB पर बवाल : क्‍या बोले पीएम?

  • झारखंड के धनबाद में रैली करते समय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नॉर्थ ईस्‍ट के हालातों का जिक्र किया. उन्‍होंने कहा, “नॉर्थ ईस्‍ट में तनाव भड़काने की कोशिश हो रही है. अधिकतर इलाका इस बिल (CAB) की परिधि में नहीं आता लेकिन कांग्रेस और उसके सहयोगियों की राजनीति गैरकानून शरणार्थियों पर चलती है. मैं पूर्व और पूर्वोत्‍तर के हर राज्‍य को विश्‍वास दिलाता हूं. असम और अन्‍य राज्‍यों की परंपराएं, संस्‍कृति, भाषा इत्‍यादि प्रभावित नहीं होंगे. केंद्र सरकार राज्‍य की सरकारों के साथ मिलकर आपके विकास के लिए काम करेगी. कांग्रेस के बयानों से भ्रमित ना हों.

  • RSS के भैयाजी जोशी ने CAB संसद से पास होने पर केंद्र, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह को धन्‍यवाद दिया है. उन्‍होंने कहा, “यह भारत में रह रहे शरणार्थियों को सम्‍मानजनक स्‍थान देने के लिए वर्तमान सरकार का बड़ा कदम है. हम उनका स्‍वागत करते हैं.
  • कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा, “देश में कश्‍मीर से कन्‍याकुमारी तक अशांति है. लेकिन दोनों सदनों से सिटिजनशिप अमेंडमेंट बिल पास होने से पूर्वोत्‍तर के राज्‍यों के बदतर हालात हैं. नॉर्थ ईस्‍ट के लोग, चाहे वह किसी भी धर्म के हों, बिल के खिलाफ हैं.
  • बीजेपी सांसद सुब्रमण्‍यम स्‍वामी ने CAB के विरोध पर कहा है कि “इन उपद्रवियों को पकड़कर बंद कर देना चाहिए जो वहां (असम) बिना कुछ जाने-समझे उपद्रव कर रहे हैं.” उन्‍होंने कहा कि “CAB में ऐसा कुछ भी नहीं है कि असम और उत्तर-पूर्व के लोगों को दिक्कत हो. NRC पर कुछ कहें तो समझ आता है.” उन्‍होंने अदालत में CAB को चुनौती पर कहा कि “CAB को लेकर किसी के भी कोर्ट जाने का कोई मतलब नहीं है. कोई ग्राउंड तो हो. ये पूरी तरह संविधान सम्मत बिल है. कांग्रेस का विरोध केवल स्वार्थ के लिए है.

पीएम से लेकर सीएम ने की असम में शांति की अपील

  • असम सीएम सर्वानंद सोनोवाल ने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है. उन्‍होंने कहा है कि लोग भ्रमित ना हों.
  • असम, त्रिपुरा, मिजोरम की सभी पैसेंजर ट्रेनें सस्‍पेंड कर दी गई हैं. बाकी जगहों से यहां आने वाली लंबी दूरी की ट्रेनों को भी गुवाहाटी में ही टर्मिनेट कर दिया जाएगा.
  • नार्थ ईस्ट के हालात को देखते हुए रेलवे ने गुवाहाटी इलाके में तिनसुकिया, लामडिंग और रंगिया डिवीज़न की सारी लोकल ट्रेन कैंसिल करने का फैसला किया है. गुवाहाटी के आगे तिनसुकिया, लमडिंग, दीमापुर, डिब्रूगढ़, सिलचर, अगरतला की ओर जाने वाली सभी ट्रेनें गुवाहाटी तक जा रही हैं और वहीं से वापसी कर रही हैं.
  • डिब्रूगढ़ जाने वाली कई उड़ानें रद्द की गई हैं. इसके अलावा गुवाहाटी में होने वाला इंडियन सुपर लीग का एक मुकाबला भी रद्द पोस्‍टपोन किया गया है.
  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर असम के नागरिकों से अपील की. उन्होंने लिखा कि नागरिकता संशोधन बिल के पास होने से असम के लोगों का हक नहीं छिनेगा.

  • सोशल मीडिया का इस्तेमाल दुष्प्रचार के लिए न किया जा सके, इसलिए एहतियातन असम और त्रिपुरा दोनों ही राज्यों में इंटरनेट सेवाओं को निलंबित कर दिया गया है. त्रिपुरा सरकार द्वारा जारी किए गए एक आदेश के अनुसार, मोबाइल सेवाओं के सभी नेटवर्क्‍स पर एसएमएस भेजने की सुविधा पर भी प्रतिबंध लगा दिया गया है.

पूर्वोत्‍तर के हालात पर केंद्र की नजर

बॉर्डर मैनेजमेंट पर पार्लियामेंट्री कंसलटेटिव कमिटी की उच्चस्तरीय बैठक संसद भवन में हुई. इसमें गृहमंत्री अमित शाह और गृह सचिव अजय भल्ला ने हिस्‍सा लिया. बैठक में गृहमंत्री को पूर्वोत्तर के हालात के बारे में जानकारी दी गई. सूत्रों के मुताबिक, पूर्वोत्तर राज्यों के हालात पर सरकार लगातार नजर बनाए हुए है. इस बाबत गृह मंत्रालय में पिछले दो दिनों के दौरान चार उच्चस्तरीय बैठक भी हुई हैं. फिलहाल पूर्वोत्तर के राज्यों में अर्धसैनिक बलों की 70 कंपनियों को तैनात किया गया है. साथ ही जरूरत के हिसाब से अर्धसैनिक बलों की और टुकड़ियां भेजी जाएगी.

31 दिसंबर 2014 है CAB की कटऑफ डेट

राष्‍ट्रपति के विधेयक पर हस्‍ताक्षर करने ही यह कानून लागू हो जाएगा. भारत की राष्ट्रीयता के लिए पात्र होने की समय सीमा 31 दिसंबर 2014 होगी. मतलब इस तिथि के पहले या इस तिथि तक भारत में प्रवेश करने वाले नागरिकता के लिए आवेदन करने के पात्र होंगे. नागरिकता पिछली तिथि से लागू होगी.

ये भी पढ़ें

पाकिस्तानी हिंदू शरणार्थियों की कहानी, गृहमंत्री अमित शाह की जुबानी

नागरिकता बिल पर बहस संसद में हुई, बैकग्राउंड में इस तरह एक्टिव रहे PMO और अजीत डोभाल

Related Posts