अब नॉर्थ पोल में बिताएं छुट्टियां, इग्लू जैसा होगा होटल का स्ट्रक्चर

बताया जा रहा है की इस साल के अंत तक होटल की सुविधा शुरू हो जाएगी. फिनलैंड की कंपनी 'लग्जरी एक्शन' वहां होटल बनाने जा रही है.

नार्थ पोल पर अबतक लोग सिर्फ जहाजों से घूमने जाते थे, लेकिन अब वो वहां रह भी सकेंगे. जहाज से जब लोग घूमने जाते, तो उसी में रहते थे. कुछ घंटे खाते-पीते, वहां घुमते और फिर वापस आ जाते, लेकिन अब नार्थ पोल पर लग्जरी होटल बनने जा रहे हैं.

इन होटल्स की दीवारें ट्रांसपेरेंट होंगी, जिससे लोग बाहर का नजारा देख सकेंगे. यह दीवारें कांच की बनी होंगी. लोग रात में होटल के कमरे से ही नॉर्दर्न लाइट्स का नजारा देख सकते हैं. यह नार्थ पोल का पहला होटल होगा. इससे पहले यहां होटल की कोई सुविधा नहीं थी.

बताया जा रहा है की इस साल के अंत तक होटल की सुविधा शुरू हो जाएगी. फिनलैंड की कंपनी ‘लग्जरी एक्शन’ वहां होटल बनाने जा रही है. नार्थ पोल में आर्कटिक महासागर में जमी बर्फ पर होटल बनाए जाएंगे. होटल का स्ट्रक्चर इग्लू जैसा होगा, और ऐसे करीब 10 डोम बनाए जाएंगे.

5 रात रुकने का किराया 71 लाख रुपए

होटल में पांच रात रुकने का किराया 1 लाख डॉलर होगा. भारतीय मुद्रा में कहें तो इसकी कीमत 71 लाख रुपए होगी. होटल में रुककर लोग आसानी से सील, बेयर और अन्य आर्कटिक वन्य जीवों को देख सकते हैं. दिन में पर्यटक ग्लेशियर के आस-पास घूम सकेंगे और ध्रुवीय इलाके में रहने वालों से मिल सकेंगे.

नार्थ पोल पर नॉर्दर्न लाइट्स देखने के लिए दुनियाभर से करीब 1000 पर्यटक हर साल जाते हैं. 2020 से वहां होटल की सुविधा भी होगी, लेकिन होटल में रुकने के लिए सिर्फ अप्रैल में जाना होगा. इस महीने में ही वहां मौसम रुकने और घूमने लायक होगा. बाकी समय वहां बहुत ज्यादा ठण्ड होती है.

नॉर्दर्न पोल पर होटल बनाने का आईडिया लक्जरी एक्शन के सीईओ जेने होनेकेन का है. ‘लक्जरी एक्शन’ हाई-एंड ट्रैवल कंपनी है, जो नार्थ पोल पर लोगों को घूमने की सुविधा देती है. अप्रैल में नार्थ पोल का तापमान 20 से माइनस 40 डिग्री सेल्सियस तक रहता है. यह वक़्त घूमने के हिसाब से सबसे बेहतरीन है.

 

ये भी पढ़ें-  ऐसे इंसान को खोया जिससे मैं बहुत प्यार करता था, जिया खान पर बोले सूरज पंचोली

इजराइल चुनाव: बेंजामिन नेतन्याहू की राह आसान नहीं, वोटो की गिनती में कड़ी टक्कर