नये सांसद 5 स्‍टार होटल में नहीं ठहरेंगे, लोकसभा ने किया है ये इंतजाम

इससे होटलों पर होने वाले भारी भरकम खर्च और सांसदों को होने वाली असुविधा से बचा जा सकेगा.

नई दिल्ली: लोकतंत्र महापर्व का आज बहुत ही विशेष दिन है. 542 लोकसभा सीटों पर हुए मतदान के नतीजे सामने आने के बाद स्थिति साफ हो जाएगी कि केंद्र की सत्ता फिर से मोदी कायम रहेंगे या विपक्ष उन्हें गद्दी से हटाने में कामयाब हो जाएगा.

वहीं लोकसभा में चुनकर आने वाले नए सांसदों को इस बार पांच सितारा होटलों में नहीं ठहराया जाएगा. उनके लिए सरकारी अस्थायी आवास, वेस्टर्न कोर्ट (सांसद हॉस्टल) व दिल्ली स्थित राज्यों के अतिथि गृहों में व्यवस्था की जा रही है. इससे होटलों पर होने वाले भारी भरकम खर्च और सांसदों को होने वाली असुविधा से बचा जा सकेगा.

लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने नए सांसदों के आवास व अन्य सुविधाओं के लिए लोकसभा सचिवालय को इस महीने की शुरुआत में निर्देश दे दिए थे. सूत्रों के अनुसार, सचिवालय के निर्देश पर वेस्टर्न कोर्ट में सौ कमरे तैयार किए जा रहे हैं. यह एक तरह से सांसदों का हॉस्टल है, जिसमें एक शयनकक्ष है.

इसके साथ ही विभिन्न राज्यों के अतिथि गृहों में 280 कक्ष आरक्षित करने के लिए कहा गया है. यहां 200 सांसदों के रुकने की व्यवस्था होगी. जिन राज्यों से ज्यादा सांसद चुन कर आएंगे, उन्हें दूसरे राज्यों के अतिथि गृहों में ठहराया जाएगा.