असम NRC, NRC: ‘सोने को चटाई नहीं और हमसे मांग रहे तंबू’, इमरान को कांग्रेस के अधीर रंजन का मुंहतोड़ जवाब
असम NRC, NRC: ‘सोने को चटाई नहीं और हमसे मांग रहे तंबू’, इमरान को कांग्रेस के अधीर रंजन का मुंहतोड़ जवाब

NRC: ‘सोने को चटाई नहीं और हमसे मांग रहे तंबू’, इमरान को कांग्रेस के अधीर रंजन का मुंहतोड़ जवाब

कांग्रेस नेता हरीश रावत ने कहा, "BJP ने पहले ही फतवा दे दिया कि 40 लाख लोग घुसपैठिये हैं. देश भर में कहते फिरे."
असम NRC, NRC: ‘सोने को चटाई नहीं और हमसे मांग रहे तंबू’, इमरान को कांग्रेस के अधीर रंजन का मुंहतोड़ जवाब

असम के नेशनल रजिस्‍टर ऑफ सिटिजंस (NRC) में 3,11,21,004 लोगों को भारतीय नागरिक बताया गया है. लगभग 19 लाख लोगों को बाहर रखा गया है. गृह मंत्रालय सूत्रों के मुताबिक, असम में कानून व्यवस्था कायम करने के लिए सारे बंदोबस्त किए जा चुके हैं. ट्रिब्यूनल बनाए गए हैं. जिन लोगों का नाम नहीं आया है वह इसमें आवेदन कर सकते हैं. केंद्र सरकार लगातार राज्य के हालात को लेकर राज्य सरकार के संपर्क में है.

भारत के आंतरिक मामले में फिर टांग अड़ाते हुए पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने NRC को ”मुस्लिमों की एथनिक क्‍लींजिंग” बताया है. एक ट्वीट में इमरान ने कहा, “मोदी सरकार द्वारा मुस्लिमों की एथनिक क्‍लींजिंग पर भारतीय और अंर्तराष्ट्रीय मीडिया की रिपोर्ट्स से दुनिया भर में खतरे की घंटियां बजनी चाहिए कि कश्‍मीर पर अवैध कब्‍जा मुस्लिमों को निशाना बनाने की विस्‍तृत नीति का हिस्‍सा है.”

इमरान खान के ट्वीट पर वरिष्‍ठ कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि “इमरान खान हमको ज्‍यादा ज्ञान न दें. अपने सोने के लिए चटाई नही है और वो हमसे तंबू की फरमाइश कर रहे हैं.

सोनिया गांधी से मुलाकात कर आए अधीर रंजन ने कहा कि “पहले लिस्ट जो आई थी, उसमें 19 लाख बाहर हैं. हमारी पार्टी का स्‍टैंड है कि जो जेनुइन सिटिजंस है उसको NRC लिस्ट से न हटाया जाए. हर जेनुइन सिटिजन की रक्षा सरकार करे.” उन्‍होंने कहा कि “ये BJP का मुद्दा था न कि करोड़ों घुसपैठिए हैं और अब नंबर कुछ और है.”

कांग्रेस नेता हरीश रावत ने कहा, “BJP ने NRC को लेकर हमेशा दोहरा रुख अपनाया. वो तो फतवा देने के आदी हो गए है. पहले कोई और फतवा देता था अब बीजेपी फतवा देती है. उन्होंने पहले ही फतवा दे दिया कि 40 लाख लोग घुसपैठिये हैं. देश भर में कहते फिरे. एडमिनिस्ट्रेशन ने भी कोऑपरेट नही किया कोऑर्डिनेटर के साथ. बीजेपी के लोगों ने गलत अप्लिकेशंस लगा कर प्रोसेस को टैंपर करने की कोशिश की. इसी का परिणाम है कि अभी भी बड़ी संख्या में भारतीय नागरिक लिस्ट से बाहर रह गए. और वो सभी वर्गों के हैं.”

रावत ने कहा कि ‘हम राज्य सरकार से आग्रह करते है कि क्‍लेम/अपील की डेट बढ़ानी चाहिए. 1000 ट्रिब्यूनल्स की ज़रूरत है ताकि लोगों को न्‍याय मिल सके. पैनिक क्रिएट न हो. लोगों को डिटेंशन कैंप में न रखें जब तक फाइनल क्‍लोजर न हो.’

असम में NRC का फाइनल ड्राफ्ट निकलने से कुछ घंटे पहले असम के मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने वीडियो मैसेज जारी किया. उन्‍होंने कहा कि ‘लोगों को डरने की आवश्यकता नहीं. सभी भारतीयों का नाम NRC के फाइनल ड्राफ्ट में रहेगा. अगर किसी व्यक्ति का नाम छूट भी जाता है तो उसे दोबारा मौका मिलेगा.

ये भी पढ़ें

असम की फाइनल NRC लिस्ट में नाम है या नहीं? ऐसे करें चेक

NRC की फाइनल लिस्‍ट में ना हो नाम तो कर पाएंगे अपील, इतना मिलेगा टाइम

असम NRC, NRC: ‘सोने को चटाई नहीं और हमसे मांग रहे तंबू’, इमरान को कांग्रेस के अधीर रंजन का मुंहतोड़ जवाब
असम NRC, NRC: ‘सोने को चटाई नहीं और हमसे मांग रहे तंबू’, इमरान को कांग्रेस के अधीर रंजन का मुंहतोड़ जवाब

Related Posts

असम NRC, NRC: ‘सोने को चटाई नहीं और हमसे मांग रहे तंबू’, इमरान को कांग्रेस के अधीर रंजन का मुंहतोड़ जवाब
असम NRC, NRC: ‘सोने को चटाई नहीं और हमसे मांग रहे तंबू’, इमरान को कांग्रेस के अधीर रंजन का मुंहतोड़ जवाब