एक बार फिर नृपेंद्र मिश्रा बने पीएम मोदी के प्रधान सचिव, मिलेगा कैबिनेट मंत्री का दर्जा

नृपेंद्र मिश्रा मोदी सरकार के पहले कार्यकाल के दौरान भी पीएम मोदी के प्रमुख सचिव बनाए गए थे. हालांकि उस समय उनकी नियुक्ति को लेकर विपक्ष ने जमकर हंगामा किया था.

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पहले कार्यकाल में उनके प्रमुख सचिव रहे नृपेंद्र मिश्रा को एक बार फिर से उनका प्रमुख सचिव नियुक्त किया गया है. मिश्रा की नियुक्ति 31 मई से प्रभावी होगी. वरिष्ठ आईएएस अधिकारी पी.के. मिश्रा को भी प्रधानमंत्री के अतिरिक्त सचिव के रूप में सेवा विस्तार दे दिया गया है. उनकी भी नई नियुक्ति 31 मई से प्रभावी है. दोनों को कैबिनेट मंत्री का दर्जा भी दिया गया है.

कैबिनेट की नियुक्ति समिति ने यह कहते हुए मंगलवार को दोनों अधिकारियों की नियुक्ति को मंजूरी दे दी कि दोनों की नियुक्ति प्रधानमंत्री के कार्यकाल तक या अगले आदेश तक बरकरार रहेगी.

मालूम हो कि साल 2006 से 2009 के बीच ट्राई के अध्यक्ष रह चुके नृपेंद्र मिश्रा मोदी सरकार के पहले कार्यकाल के दौरान भी पीएम मोदी के प्रमुख सचिव बनाए गए थे. हालांकि उस समय उनकी नियुक्ति को लेकर विपक्ष ने जमकर हंगामा किया था.

विपक्ष का तर्क था कि ट्राई के नियमों के मुताबिक इसका अध्यक्ष रिटायर होने के बाद सरकार से जुड़े किसी पद पर नियुक्त नहीं किया जा सकता, चाहे वह केंद्र की सरकार हो या राज्य की. हालांकि मोदी सरकार ने इस नियम को अध्यादेश लाकर संशोधित कर दिया था. जिसके बाद मिश्रा की नियुक्ति की राह आसान हो गई थी.

ये भी पढ़ें: दूसरी बार सत्ता में आते ही मोदी सरकार ने दिया मुस्लिमों को सबसे बड़ा तोहफा